मुख्य समाचारआम मुद्दे

रांची–रीवा राष्ट्रीय राजमार्ग में वाहनों का चलना दुश्वार,मार्ग में जगह–जगह हुए गहरे गड्ढे।

Story Highlights

  • Running of vehicles in Ranchi Rewa National Highway is bad, deep pits have been made in different places along the route.
  •  हिचकोले भर गुजर रहे वाहन, सड़क पर दो से तीन फीट गहरे गढ्ढों में 21 सितम्बर की सुबह एक टेलर फस जाने के कारण लगी लंबी जाम, 2 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद खुली जाम।

दुद्धी– सोनभद्र
जितेन्द्र चन्द्रवंशी⁄ पप्पू यादव– सोनप्रभात 

विंढमगंज सोनभद्र– झारखंड बॉर्डर से जुडे विंढमगंज थाना क्षेत्र से होकर गुजरने वाली रांची रींवा राष्ट्रीय राजमार्ग 75  पर  विंढमगंज से दुद्धी मार्ग की स्थिति लगभग 18 किलोमीटर तक इन दिनों बिल्कुल खस्ताहाल हो गया है, जिसका नतीजा रहा कि आज सुबह लगभग 8:00 बजे  झारखंड से उत्तर प्रदेश की ओर जा रही एक ट्रेलर  काली मंदिर तिराहे पर जा फंसा।  जिसके कारण लगभग 2 घंटे  रोड के दोनों ओर गाड़ियों की लंबी काफिला लग गई, पिकअप स्टैंड व स्थानीय राहगीर  ने  कड़ी मशक्कत के बाद  जेसीबी लगाकर लगभग 10:00 बजे  फंसे हुए टेलर को बाहर किया तब जाकर 2 घंटे के बाद यातायात बहाल हो सका।

इस मार्ग पर चलने वाले  दो पहिया वाहन व भारी वाहनों को यह पता ही नहीं चलता है, कि हम रोड पर चल रहे हैं या गड्ढे में  झारखंड से उत्तर प्रदेश को जोड़ने वाली करीब 18 किमी लंबी सड़क में तीन से चार फीट गहरे गड्ढे से पूरा रोड क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। गढ्ढों में आए दिन दो पहिया वाहन सवार एवं पैदल राहगीर गिरकर चुटहिल हो रहे हैं, बारिश के बाद सड़क पर बने गढ्ढों में पानी इकट्ठा हो जाने के इस मार्ग पर दुश्वारियां और बढ़ जाती हैं। ऐसे में अक्सर दुर्घटना होने का भय बना रहता है व आए दिन दुर्घटना हो भी जाती है। जहां यह रोड पूरी तरह से ध्वस्त हो कर अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रही है, वहीं रोड के पटरियों पर बिखरी पड़ी गिट्टियां भी दुर्घटना की वजह बन रही हैं। इन बिखरी पड़ी गिट्टियों पर दो पहिया वाहन सवार अक्सर सरक कर गड्ढे में गिर पड़ते हैं, वहीं बड़े वाहनों के टायर से दबकर छिटकी गिट्टियां गोली के वेग से निकलती हैं और अनायास ही राहगीरों एवं रहवासियों को घायल कर देती हैं, जिस चोट से उबरने में उन्हें हफ्तों लग जाते हैं। मार्ग में बने गढ्ढे जानलेवा साबित हो रहे हैं, तब से आज तक विभागीय अधिकारियों ने इसकी कोई सुधि नहीं ली।

स्थानीय नागरिकों ने इस समस्या की ओर जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट करते हुए तत्काल मार्ग के मरम्मत कराए जाने की मांग की है, अगर तत्काल इस रोड की मरम्मत नहीं हुई तो कभी भी बड़ी दुर्घटना घट सकती है, बड़ी दुर्घटना घटने के बाद ग्रामीण आक्रोशित होकर उग्र आंदोलन करने को बाध्य हो जाएगें।

विंढमगंज- कोन मार्ग में बाइक से गिर दैनिक जागरण पत्रकार हाे चुके हैं चोटिल।  पाठकों नें व्यक्त किया दु:ख।    

विंढमगंज कोन मार्ग पर बीते शनिवार को देर शाम दैनिक जागरण के पत्रकार रामदास कुशवाहा की मोटरसाइकिल अनियंत्रित होकर गिर जाने के कारण उनके पैर में फैक्चर हो जाने से इलाके में दैनिक अखबाराें का आना जाना रुक गया है, जिससे पाठको नें दुर्घटना के प्रति दुख व्यक्त किया है। बीते 3 वर्षों से विंढमगंज- कोन मार्ग (मात्र 22 किलोमीटर) को बना रहे ठेकेदार पर आक्रोश व्यक्त किया है तथा ऐसे ठेकेदारों की लापरवाही पर तत्काल कानूनी कार्रवाई करने की बात भी की है,  ताकि गलत कार्य कर रहे लोगों पर अंकुश लगाया जा सके।साथ ही दुर्घटना पर नियंत्रित किया जा सके।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close