क्राइम

चोपन हत्याकांड खुलासा-: धर्म परिवर्तन को लेकर कलयुगी पति ने ही किया था दोस्त के साथ मिलकर अपनी पत्नी की निर्मम हत्या।

न्यूज अपडेट , सोनप्रभात-
चोपन– सोनभद्र–

  • प्रिया सोनी हत्याकांड  का पुलिस अधीक्षक ने किया खुलासा-:  ” पति ने ही दोस्त के साथ मिलकर घटना को दिया था अंजाम, पुलिस ने भेजा जेल”

चोपन। थाना क्षेत्र के अंतर्गत निर्मम हत्या कांड को लेकर सोनभद्र पुलिस ने बीते 48 घंटे बाद युवती का सिर क्षत-विक्षत अवस्था में बरामद किया था। जिसके बाद पुलिस ने हत्यारो की तलाश तेज कर निशान देही पर लगातार टीम के द्वारा कार्यवाही की जा रही थी।

मामला दर्ज होने के बाद पुलिस की जांच के बाद खुलासा हुआ कि जल पति ही पत्नी की हत्या दोस्त के साथ मिलकर किया था, इस हत्याकांड का मुख्य कारण प्रिया सोनी को जबरन पति के द्वारा धर्म परिवर्तन करने को लेकर प्रताड़ित किया गया साथ ही आये दिन उक्त युवक मृतका से धर्म परिवर्तन को लेकर विवाद कर चुका था, जिसने अपनी पत्नी के इसी बात से नाराज होकर प्रिय सोनी की निर्मम तरीके से अपने दोस्त के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी और सिर व धढ़ अलग अलग कर फरार हो गया था।

जिसके बाद पुलिस विभाग की स्वाट टीम प्रभारी प्रदीप सिंह,चोपन एसएचओ नवीन तिवारी,एसओजी प्रभारी अमित त्रिवेदी ने हत्या मे शामिल मृतका के पति और उसके दोस्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। यह घटना 21 सितम्बर के शाम को पुलिस को सूचना मिली थी कि डाला से राबर्ट्सगंज जाने वाले मार्ग के किनारे प्रीत नगर के जंगल में एक युवती की सिर कटा हुआ शव पड़ा हुआ है। इस सनसनीखेज घटना की सूचना पर पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर पहुचकर अज्ञात युवती के शव के शिनाख्त के लिये काफी प्रयास किया गया परन्तु स्थानीय लोग शव को नही पहचान सके।मृतका की शिनाख्त हेतु मीडिया सेल के माध्यम से सोशल मीडिया पर भी प्रचार प्रसार किया गया।जिसके बाद पुलिस ने आइपीसी की भा.द.वी. धारा 302/201 मे मुकदमा दर्ज किया था। जिसके बाद शव की पहचान प्रिया सोनी पुत्री लक्ष्मी नारायण सोनी निवासी प्रीतनगर के रूप मे किया गया था।

  • घरवालों के मर्जी के बगैर की थी मृतका ने शादी।

मृतका प्रिया के पिता ने बताया कि डेढ़ माह पूर्व प्रिया द्वारा बिना घर परिवार की सहमति से पास के ही रहने वाले एजाज अहमद उर्फ आशिक पुत्र जाकिर हुसैन निवासी प्रीत नगर से प्रेम विवाह कर लिया था।जिसके बाद मेरी बेटी को  एजाज अहमद द्वारा धर्म परिवर्तन का दबाव बना रहा था,लेकिन बेटी प्रिया इसके लिए कत्तई तैयार नही थी जिस कारण एजाज उसे अपने घर में ना रखते हुये ओबरा स्थित एक महिला लाज में किराया का कमरा ले कर रखा था। इस बीच धर्म परिवर्तन के विषय को लेकर दोनो मे विवाद होता रहता था , परन्तु प्रिया तैयार नही हुयी जिस कारण उसकी हत्या एजाज द्वारा की गयी है, उनके द्वारा मृतका व दामाद के मोबाइल नम्बर भी बताये गये।

हत्या में प्रयुक्त लोहे की रॉड, चाकू

अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव के निर्देशन मे टीम का गठन किया गया था। गठित टीम के अथक लगन व परिश्रम से सूचना संजाल तैयार किया गया। इसी क्रम मे 05:30 बजे स्वाट,एसओजी,सर्विलांस टीम व चोपन पुलिस द्वारा मुखबीर खास की सूचना पर बग्घा नाला पुल के नीचे से आरोपी एजाज उपरोक्त अपने एक साथी के साथ पकड़ लिया गया।अभियुक्तो की निशानदेही पर मृतका का मोबाइल फोन व आलाकत्ल चाकू, लोहे की राड़ व फावड़ा बरामद किया गया।पुछताछ करने पर अभियुक्त एजाज उर्फ आशिक द्वारा बताया गया कि उसके द्वारा शोएब के साथ मिल कर इस घटना को अंजाम दिया गया था।  एजाज अहमद उर्फ आशिक पुत्र जाकिर हुसैन निवासी प्रीतनगर वार्ड चोपन, शोएब पुत्र यूनूस निवासी प्रीत नगर  चोपन के पास से मृतका का मोबाइल फोन, सीम कार्ड,घटना मे प्रयुक्त लोहे की राड,चाकू आलाकत्ल,घटना में प्रयुक्त फावडा,अल्टो कार बरामद हुआ है।आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

हत्या का खुलासा करने वाली टीम मे स्वाट प्रभारी प्रदीप सिंह,चोपन एसएचओ नवीन तिवारी,एसओजी प्रभारी अमित त्रिवेदी,चोपन एसएसआइ अवधेश यादव, कांस्टेबल जगदीश मौर्या,जितेन्द्र पाण्डेय,अरविन्द सिंह,विरेन्द्र कुशवाहा, हरिकेश,यादव,रितेश पटेल,अमर सिंह,सौरभ राय,प्रकाश सिंह,दिलीप कश्यप,अमित सिंह, शामिल थे। वही सोनभद्र के पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने इस मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक ने अज्ञात हत्या के संगीन अपराध के त्वरित व सफल अनावरण पर पुलिस टीम को नगद पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया है।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close