मुख्य समाचारप्रकृति एवं संरक्षणराजनैतिक खबरें

मलिया नदी से अवैध खनन कर पैचिंग प्लांट पर गिराया बालू, एक रात में लाखों की राजस्व की चोरी।

  • बुधवार रात्रि से गुरुवार की भोर तक सैकड़ो ट्रिप ट्रैक्टर ने गिराया बालू।
  • मामला विंढमगंज थाना व वन क्षेत्र में भारी पैमाने पर स्थानीय नदियों से खनन कर चोरी की बालू ऊँचे दामों पर आपूर्ति का। 

विंढमगंज-सोनभद्र

पप्पू यादव/ जितेंद्र चन्द्रवंशी- सोनप्रभात

विंढमगंज/सोनभद्र| रेनुकूट वन प्रभाग के विंढमगंज वन रेंज व सर्किल के विंढमगंज थाना क्षेत्र में अवैध बालू के खनन का कारोबार रुकने के बजाए बढ़ता ही जा रहा है। यह सब तब हो रहा है जब विंढमगंज रेंज में पिछले तीन वर्षों में मलिया व कनहर नदी से हुए अवैध खनन कर रेलवे में हुए आपूर्ति की जांच को सोनभद्र डीएम एसराज लिंगम में तीन सदस्यीय टीम गठित की है, जांच अभी तक शुरू हुई नहीं कि खेल फिर से शुरू हो गया है।

ग्रामीण सूत्रों ने बताया कि मलिया नदी से बुधवार की रात्रि से दर्जनों ट्रैक्टर लगाकर अवैध बालू खनन कर उसकी आपूर्ति महुअरिया रेलवे स्टेशन के पास स्थित पैचिंग प्लांट पर दी गयी और जिम्मेदार कुम्भकर्णी निद्रा में सोते रहे। महुली की ग्रामीणों की माने तो यह सब पुलिस व वन विभाग व राजस्व विभाग के स्थानीय जिम्मेदारों की मिलीभगत से हो रहा है और अपनी जेबें भर प्रतिदिन सरकार को लाखों की राजस्व की क्षति पहुँचायी जा रही है।

ट्रैक्टर से चोरी की बालू जब पैचिंग प्लांट पर गिराने की भनक आज गुरुवार की सुबह ग्रामीणों को लगी तो महुली के दर्जनों ग्रामीणों ने ट्रैक्टरों के माध्यम से गिराए जा रहे बालू का विरोध किया और घंटे भर बवाल काटकर विरोध जताया।

इस दौरान ग्रामीण उदय शर्मा ने उपजिलाधिकारी दुद्धी को चार बार फोन भी लगाया लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया,  अन्य ग्रामीणों ने भी फोन लगाए लेकिन जबाब नहीं मिला। इसके बाद तहसीलदार को भी फोन लगाया तो तहसीलदार ने एसडीएम से मामले को बताने की बात कही। डीएफओ को सूचना देने के बाद डिफ्टी रेंजर आरके मौर्या मौके पर पहुँचे और कार्रवाई की जगह पर कही फोन कर कलई खुलने के डर से ट्रेक्टरों के माध्यम से गिरवाये गये बालू को जेसीबी बुलवाकर फेटवाने लगे, जिससे यह पता ना चल कि यह बालू ट्रैक्टर से गिरा है। जेसीबी से बालू फेंटने का कार्य ग्रामीणों व मीडियाकर्मियों के सामने ही चलता रहा जैसे सिस्टम का नंगा नाच चल रहा हो।
मीडियाकर्मियों को दिए बयान में ग्रामीण कलाम ने बताया कि ट्रैक्टरों के माध्यम से स्थानीय अधिकारियों से सांठ -गांठ कर यह खेल चल रहा है ।

स्थानीय नदियों से रेत का उत्खनन कर रात के अंधेरे में महुली पैचिंग प्लांट पर इसकी आपूर्ति ऊँचे दामों पर दी जा रही है काम मे लगे ट्रैक्टर इतने रफ्तार में होते है कि किसी को भी कभी भी कुचल सकते है।गांव में किसी का आवास आया है , शौचालय आया है उनका बालू गिर नहीं रहा।  सिर्फ मोटी मोटी पार्टियों का काम पैसे के दम पर निकल रहा है ,आरोप लगाया की दी गयी बालू मिट्टी का मिक्चर जिससे रेलवे का निर्माण भी घटिया किस्म का हो रहा है।पैचिंग प्लांट के बगल में रहने वाली महिला मुन्नी देवी ने बताया कि रात भर ट्रैक्टर से बालू गिरवाया गया है|

  • ग्रामीणों ने अवैध बालू गिराए जाने के खिलाफ किया प्रदर्शन ,लगाए रेंजर व डिप्टी रेंजर मुर्दाबाद के नारे

महुअरिया पैचिंग प्लांट पर अवैध बालू गिराए जाने से क्षुब्ध ग्रामीणों ने प्लांट परिसर में आज जमकर प्रदर्शन किया और रेंजर व डिप्टी रेंजर मुर्दाबाद के नारे भी लगाए ,उन्होंने डीएम का ध्यान आकृष्ट कर मामले की जांच करवाकर संलिप्त लोगो के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

प्रदर्शन कारियों ने आरोप लगाया कि रेंजर व डिप्टी रेंजर ठीकेदार से साठ गांठ करके रात भर स्थानीय नदियों से निकाली गई चोरी की बालू को रेलवे पैचिंग प्लांट पर गिरवाते है,और अवैध धनउगाही में जुटे हुए है। आरोप लगाया कि यह सब सीधा वन विभाग व अन्य विभाग के संज्ञान में हो रहा है , उन्होंने मांग किया कि जो बालू गिरवाया गया ये सब सीज हो साथ ही कहा कि कार्य मे लगे ट्रेक्टरों की गड़गड़ाहट से ग्रामीण सो नहीं पा रहे और इनकी रफ्तार देख लोग सड़क पर नहीं निकल रहे है कि कही इनकी तेज रफ्तार की जद में ग्रामीण ना जाएं। उन्होंने जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कर मामले को त्वरित संज्ञान लेते हुए प्रभावी कार्रवाई की मांग किया है। इस दौरान पर उदय शर्मा,ओमप्रकाश,अब्दुल कलाम, धर्मेंद्र, रुस्तम खान,दीपावली,अजय,अनूप गुप्ता,अखिलेश आदि ग्रामीण मौजूद रहें|

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close