मुख्य समाचारआस-पास

सिंगरौली-: शहर का कचरा प्रबंधन अब सिटाडेल के हाथ,नगर निगम ने सौंपी जिम्मेदारी

  • -रैंक सुधारने में लगा है नगर निगम।
  • -नये लुक में दिखने लगा है कचरा प्रबंधन तन्त्र।
  • -आवारा पशु बने है गम्भीर समस्या।
  • -नालियों के सफाई के प्रति लापरवाही कब तक?

विंध्यनगर – सिंगरौली 

सुरेश गुप्त’ग्वालियरी’ – सोनप्रभात

नगर पालिक निगम सिंगरौली द्वारा संस्थाओ को अधिकृत कर डोर टू डोर कचरा प्रबंधन की जिम्मेदारी सौंपी जाती रही है , इस दरम्यान नेचर ग्रीन टूल्स एंड मशीन्स को अधिकृत किया गया था । जिसका कार्यकाल 30 सितम्बर को समाप्त होने पर 1अक्टूबर से कचरा प्रबंधन व्यवस्था की जिम्मेदारी सिटाडेल आईएसडब्लूएम प्रोजेक्ट सिंगरौली प्राइवेट लिमिटेड को सौंपी गई है , जिसमे 1 अक्टूबर से कचरा प्रबंधन की पूरी व्यवस्था सम्भाल ली है।

सिटाडेल द्वारा शहर के सभी 45 वार्डो में कचरा वाहन सन्चालित करना प्रारम्भ कर नए उत्साह और व्यवस्था से संचालन शुरू किया इस दौरान नए संकल्प और स्वच्छ सर्वेक्षण2021 के पैमानों में बेहतर प्रदर्शन करते हुए शहर को उत्कृष्ट स्थान हेतु लक्ष्य लिया है।

पेशेवर और अनुभवी कर्मचारियों की नियुक्ति- 

 

सिटाडेल द्वारा पूर्ण रूप से कचरा प्रबंधन में अनुभवी कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है जिन्हें स्वच्छ सर्वेक्षण की बारीकियां और कार्य करने का अनुभव प्राप्त है।


कर्मचारियों को बांटी गई यूनिफार्म-

 

कचरा प्रबंधन में लगे सभी कचरा संग्राहक,ड्राइवर,प्रोसेसिंग प्लांट के कर्मचारियों और इंचार्ज को संस्था द्वारा यूनिफार्म और आईडी कार्ड दिया गया वही कचरा लेने और प्रोसेस करने वाले कर्मियों को पीपीई किट,मास्क,ग्लव्स,जूते, अप्रेन सहित सेनेटाइजर वितरित किया गया जिससे सभी कर्मचारी एक आदर्श माहौल और स्वयं की सुरक्षा के साथ कार्य को सम्पादित करें।

सिंगरौली का प्रदर्शन बेहतर हो यही हमारा लक्ष्य- दीपक शर्मा-

सिटाडेल के निर्देशक दीपक शर्मा ने कहा चूंकि हमने नगर पालिक सिंगरौली में कार्य अभी प्रारम्भ किया है लेकिन बड़े शहरों में कार्य का अनुभव और शहर को बेहतर स्तर पर प्रदर्शन हेतु हमारा संकल्प बेहतर परिणाम हेतु प्रेरित लक्ष्य से आगे बढ़ेगा,हमने सभी 45 वार्डो में कचरा शत प्रतिशत संग्रहण हो इसके लिए कचरे के अलग अलग कंपार्टमेंट की व्यवस्था की है जिसमे सूखा कचरा,गीला कचरा,डोमेस्टिक हज़ार्डस वेस्ट,डोमेस्टिक सेनेटरी वेस्ट और इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट के लिए पृथक रूप से कंपार्टमेंट वाहन में बनाए गए हैं इससे नागरिको को कचरा देने में आसानी होगी।
कचरे के संग्रहण के पश्चात उसका परिवहन बेहतर हो सके इसके लिए प्रत्येक वाहन में जीपीएस सिस्टम की व्यवस्था है हम इससे ये सुनिश्चित कर सकेंगे कि वाहन सभी मकानों में पहुँच रहा है और अपने रूट को पूरा करे जिसकी मोनिटरिंग अनुभवी अधिकारी करेंगे।
प्रोसेसिंग प्लांट में व्यवस्था पहले से बेहतर करते हुए कचरे का समुचित निष्पादन किया जा सके इसके लिए सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के सभी गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए किया जाना सुनिश्चित किया जाएगा।
इस दौरान हमारा लक्ष्य है कि डोर टू डोर कचरे का संग्रहण 100% हो इसके लिए प्राइमरी वाहन के रूप में हर घर तक कचरा वाहन पहुचाया जाएगा और सेकेंडरी वाहन रोड, व्यवसायिक क्षेत्रों से कचरा उठाना सुनिश्चित करेगी।


कोरोंटाईन सेंट्रर और कोरोना सेंट्रर के लिए पृथक वाहन की व्यवस्था होगी।
कचरा प्रबंधन में कोई समस्या या शिकायत हो उसके लिए हेल्पलाइन नंबर 7610107107 पर सम्पर्क कर समस्या का निदान पा सकते हैं।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

IPL – 2020 में किस टीम को आप चैम्पियन बनता देखना चाहते हैं ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close