मुख्य समाचारस्वास्थ्य

कुपोषित बच्चों के लिए एन आर सी वार्ड का दुद्धी विधायक एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी सोनभद्र द्वारा हुआ लोकार्पण।

  • 0 वर्ष से 5 वर्ष तक के बच्चे को मिलेगा बेहतर इलाज और भोजन।
  • 14 दिनों तक उपचार होंगे डिस्चार्ज के 14 दिनों तक माता को मिलेंगे ₹50।

दुद्धी – सोनभद्र 

जितेंद्र चन्द्रवंशी – सोनप्रभात

दुद्धी सोनभद्र स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर मंगलवार को दोपहर में विधायक हरिराम चेरो ने कुपोषित बच्चों के इलाज के लिए नए वार्ड का विधिवत उद्घाटन किया ।

इस मौके पर विधायक ने अपने संबोधन में कहा कि उत्तर प्रदेश शासन हर स्तर पर आम आदमी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने और इलाज देखने के लिए हर स्तर पर काम कर रहा है, इसी क्रम में आज क्षेत्र के गरीब आदिवासी इलाकों के कुपोषित बच्चों के इलाज के लिए विशेष वार्ड का उद्घाटन किया है ।उन्होंने कहा कि इस वार्ड में जन्म से कुपोषित बच्चों का इस विशेष वार्ड में समुचित इलाज देखरेख किया जाएगा इतना ही नहीं बच्चों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए उन्हें अच्छी तरह भोजन दवाइयां आदि निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा ताकि बच्चों के शरीर में पौष्टिकता की मात्रा हो जिससे बच्चे कुपोषित ना हो सके ।उन्होंने कहा कि आदिवासी बेल्ट में गरीब असहाय लोगों के पास खाने-पीने के संसाधन उपलब्ध नहीं होते हैं ऐसे में बहुत सारे बच्चे अच्छे भोजन के अभाव में कुपोषित हो जाते हैं उन्हें अच्छी तरह से देखभाल भोजन दवाइयां आदि की व्यवस्था शासन स्तर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर किया गया ।उन्होंने आम लोगों से अपील किया है कि ऐसे क्षेत्र में कोई भी बच्चा कुपोषित हो तो इलाज और भोजन के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लाएं ताकि उनका बेहतर ढंग से स्वास्थ्य इलाज हो सके जिससे बच्चा कुपोषित ना हो ।

विशेष वार्ड के उद्घाटन के मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एसके उपाध्याय ने कहा कि क्षेत्र के गरीब आदिवासी तथा अन्य लोगों के बच्चे जन्म से कुपोषित हो जाते हैं उनके बेहतर स्वास्थ्य इलाज के लिए आज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कुपोषित वार्ड का उद्घाटन किया गया है इस वार्ड में कुपोषित बच्चों का बेहतर भोजन बेहतर स्वास्थ्य इलाज दवाइयां आदि की निशुल्क व्यवस्था सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के द्वारा किया जाएगा । उन्होंने कहा कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कुपोषित बच्चों के खेलने के लिए गुब्बारे खिलौने आदि की सारी व्यवस्थाएं की गई हैं यहां तक कि कुपोषित बच्चों के साथ मां रहेगी उसको भी अस्पताल के द्वारा निशुल्क भोजन कराया जाएगा ।उन्होंने बताया कि जीरो से 5 वर्ष कुपोषित बच्चों का अस्पताल में आधुनिक ढंग से इलाज किया जाएगा इलाज के दौरान अस्पताल में 14 दिन रह कर इलाज कराया जाएगा।  उस दौरान बच्चे का वजन अधिकारी रिकॉर्ड किया जाएगा कि बच्चे कुपोषित ग्रुप कर रहे हैं कि नहीं उनका मानसिक विकास हो रहा है या नहीं सारे चीजों पर स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर नजर रखेंगे और बेहतर तरीके से इलाज करेंगे अस्पताल में 14 दिन बेहतर इलाज के बाद मां को हर दिन ₹50 के हिसाब से 14 दिन का पैसा जोड़कर मां को दिया जाएगा यह व्यवस्था शासन स्तर से किया गया है ।

इस मौके पर जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत सिंह , डीएमओ श्रीवास्तव, चिकित्सा अधीक्षक डॉ गिरधारी लाल ,बीडीओ रमाकांत सिंह,,डॉ विनय श्रीवास्तव डॉक्टर प्रकाश चंद जयसवाल, डिप्टी आरएमओ ,डॉक्टर संजीव कुमार डॉ स्मिता सिंह डॉ गौरव डॉक्टर संजय गुप्ता के एचआरसी के प्रबंधक राजन चेरो, जिला पंचायत सदस्य मान सिंह गौड़ अरुण सिंह उर्फ़ साईं बाबा विधायक सचिव अरूण तांडे दीपक सिंह ,नीलम द्विवेदी एनम के अलावा कई स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और अधिकारी मौजूद रहे।

Live Share Market

जवाब दीजिए

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close