मुख्य समाचार

फुलवार के ग्रामीणों ने 80% शौचालय अपूर्ण होने की शिकायत डीएम से किया।

  • ग्रामीणों ने ग्राम विकास अधिकारी पर लगाए गंभीर आरोप।
  • ग्राम विकास अधिकारी ने शौचालय का लाखो रुपये का किया गमन जिससे ग्रामीण खुले में शौच करने को मजबूर।

विंढमगंज – सोनभद्र / पप्पू यादव- जितेंद्र चन्द्रवंशी – सोनप्रभात

विंढमगंज/सोनभद्र| दुद्धी ब्लॉक के फुलवार के दर्जन भर ग्रामीणों ने गांव में 80 % तक शौचालय अपूर्ण होने का आरोप लागया है ,ग्रामीणों का कहना है कि गांव के सेक्रेटरी यशवन्त कुमार गौतम ने अपने रिश्तेदारों से शौचालय का अधूरा निर्माण कराकर कर कई लाख रुपये का घोटाला किया है , ग्रामीणों ने आज प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच हेतु शिकायत तहसील दिवस में डीएम अभिषेक कुमार सिंह से की| जिस पर डीएम श्री सिंह ने डीएमओ राजेश कुमार को मौके पर शौचालय जांच हेतु भेजा और दोपहर दो बजे तक रिपोर्ट तलब की।

दिए शिकायत पत्र में लालचंद, लक्ष्मी , कमलेश सिंह ,अशोक कुमार ,बिहारी चेरों ,राधेश्याम,विश्वनाथ यादव ,नेतमन,विजय कुमार ,उपेंद्र,संजय कुमार ,अभय कुमार ,लोकमन सुरेश कनौजिया ,संजय कुमार, अभय कुमार,अशोक यादव,नंदू यादव,परमेश्वर,कुलदीप,राधेश्याम, विशाल,दिनेश,दसई,
आदि लोगों ने दिए शिकायत पत्र में आरोप लगाया कि दुद्धी ब्लॉक के फुलवार में शौचालय निर्माण में भारी पैमाने पर भ्र्ष्टाचार किया गया है। गांव में लगभग 80% आधा अधूरा शौचालयों को पूर्ण दिखाकर कई लाख रुपये का घोटाला कर दिया गया है ,कुछ लाभार्थियों को शौचालय बनाने हेतु भुगतान सचिव द्वारा अपने स्वयं के खाते से किया गया है जिससे यह पुष्टि करने के लिए पर्याप्त है कि गांव में शौचालय निर्माण में घोटाला हुआ है।आरोप लगाया कि ग्राम विकास अधिकारी ने अपने घर गांव से आधे दर्जन रिश्तेदारों को बुलाकर शौचालय का आधा अधूरा निर्माण कराया है|शौचालय ना होने की दशा में ग्रामीण खुले में शौच करने को मजबूर है।  ग्रामीणों ने प्रकरण की जांच जिला स्तरीय टीम से कराकर उक्त ग्राम विकास अधिकारी के खिलाफ सख्त से सख़्त कार्रवाई का मांग किया है।

डीएम द्वारा जांच हेतु गांव भेजे गए डीएमओ ने गांव पहुँच कर लगभग 1 घंटे के दरमियान पवन पनिका , राजकेश्वर घसिया ,जोखू यादव , लक्ष्मी यादव ,गुलाब घसिया सहित 20 शौचालय का निर्माण देखा जिसमें 15 अपूर्ण पाया।  लेकिन जिस ग्राम विकास अधिकारी की शिकायत डीएम से की गई उसी के साथ बोलेरों गाड़ी से गांव पहुँचने पर ग्रामीणों ने सवाल उठाना शुरू कर दिया है कि कही जांच में उक्त ग्राम विकास अधिकारी से साठ गांठ तो नही हो गयी|ग्रामीणों ने इस घटना पर डीएम सोनभद्र से मौखिक ध्यान आकृष्ट कर जांच अधिकारी के जांच पर भी पैनी बनाये रखने का मांग किया है|

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close