प्रकृति एवं संरक्षणमुख्य समाचार

अमवार व कुदरी (विंढमगंज) -: अवैध उत्खनन में दर्जनों ट्रैक्टर ने नदियों का सीना चीर कर देर रात्रि में बालू निकाला।

  • 👉सुरक्षा व्यवस्था के अभाव में राजस्व टीम के हाथ पांव फूले, अवैध खनन बदस्तूर जारी।

दुद्धी – सोनभद्र / जितेन्द्र चन्द्रवंशी – सोनप्रभात

दुद्धी जनपद सोनभद्र अमवार चौकी अंतर्गत रात्रि में कनहर नदी का सीना चीर कर दर्जनों ट्रैक्टर अवैध उत्खनन करते देखे गए, कल ही एक ट्रैक्टर को अवैध उत्खनन में लिप्त पाए जाने पर राजस्व टीम के द्वारा पकड़ा गया था, खनन विभाग द्वारा ट्रेक्टर सीज कर दी गई, परंतु अवैध उत्खनन रुकने का नाम नहीं ले रही।

रात्रि में दर्जनों ट्रैक्टर अवैध उत्खनन के उद्देश्य से कनहर नदी में उतरे और प्रशासन की नाक के नीचे लाखों करोड़ों के राजस्व की चोरी उत्खनन द्वारा की गई, सूत्रों की माने तो ₹1000 रूपये प्रति ट्रैक्टर मैनेज के खेल में खर्च करतें है, इस प्रकार मास्टरमाइंड खनन माफिया बेखौफ प्रकृति का सौंदर्य बिगाड़ने और सरकार की किरकिरी करने पर आमादा है, लाखों करोड़ों के राजस्व की चोरी कर अपना सपनों का महल तैयार किया जा रहा, हर चट्टी चौराहे पर मैनेज के खेल के गुर्गे उल्लू की भांति टकटकी लगाए रहते हैं, और प्रशासन का सटीक लोकेशन देते हैं, दर्जनों ट्रिपर अवैध परमिट से दिन में बालू ढ़ोते है।

अभी गत दिनों राजखड़ में स्कूल के लिए निकले बच्ची ट्रिपर से हादसे का शिकार हो चुकी, पुलिस की गाड़ी भी उक्त स्थान पर क्षतिग्रस्त हो चुकी और प्रभारी निरीक्षक दुद्धी बाल बाल बचे थे, राजस्व टीम भी सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध ना होने के कारण मूकदर्शक बनकर देखती रह गई, जहां पर इतना बड़ा सिंडिकेट लगा है वहां दो चार राजस्व कर्मी भला अकेले क्या करेंगे यह सोचने का विषय है?

ग्राम कुदरी से अवैध बालू उत्खनन किया जा रहा है। जिलाधिकारी महोदय सोनभद्र,उप जिलाधिकारी महोदय दुद्धी, खनन विभाग सोनभद्र, गंभीरता पूर्वक संज्ञान लेकर पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था जन सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बनाएं, विंढमगंज रेंज बघाडू रेंज, मलिया नदी, कनहर नदी, ठेमा नदी, पांगन नदी, लौआ नदी के अस्तित्व को बचाया जाए वरना वह दिन दूर नहीं जब नदियों के पाट पर अवैध जमीन कब्जा कर खेती करते लोग नजर आएंगे, इन नदियों के अस्तित्व पर संकट आने से पर्यावरण का कितना बड़ा संकट मानव प्राणी जीव जंतुओं के लिए खड़ा होगा इसकी कल्पना तक नहीं की जा सकती, बाहर के अधिकारी कर्मचारी महज ड्यूटी बजाकर चले जाएंगे, पर प्रकृति इसके लिए उन्हें कभी माफ नहीं करेगी, कठोर कार्रवाई कर उजड़े चमन को शीघ्र जनहित में बचाया जाए, और लाखों करोड़ों के राजस्व की चोरी कर सरकार की किरकिरी करने वाले लोगों को सलाखों के पीछे डाला जाए।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close