मुख्य समाचार

“मूलनिवासी वनवासी विकास मोर्चा ” नें महात्मा गांधी समाधि स्थल आदर्श गांव नगवा में मौलिक समस्याओं पर की खुली चर्चा।

  • 👉गांव गांव, नगर -शहर होगा मोर्चा का विस्तार।

दुद्धी – सोनभद्र -जितेंद्र चंद्रवंशी/ सोनप्रभात

दुद्धी सोनभद्र तहसील अंतर्गत आदर्श गांव ग्राम नगवा में महात्मा गांधी प्रतिमा व गुमनाम आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी सुराजी स्तम्भ के पास मोर्चा के अध्यक्ष नंदलाल एडवोकेट , महासचिव सुरेंद्र कुमार अग्रहरी व निवर्तमान प्रधान गंभीरा प्रसाद, मोर्चा के प्रवक्ता एवं मीडिया प्रभारी जितेंद्र चंद्रवंशी सहित पूर्व प्रधान फड़ीश्वर जायसवाल स्थानीय जनप्रतिनिधि व स्थानीय ग्रामीणों द्वारा गांधी प्रतिमा व सुराजी स्तम्भ पर प्रकृति प्रदत्त पुष्पों को अर्पित कर गुमनाम आदिवासी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को याद किया गया।

तत्पश्चात नवगठित मूलनिवासी आदिवासी विकास मोर्चा द्वारा मोर्चे के उद्देश्यों पर विस्तार से प्रकाश नवनिर्वाचित अध्यक्ष नंदलाल एडवोकेट ने कहा कि इस मोर्चा का गठन मूलनिवासी बनवासी अधिकारों के संरक्षण और संवर्धन के लिए किया गया है, जिसमें सभी राजनीतिक दलों के लोग, सामाजिक संगठनों के लोग गांव गांव,नगर शहर के लोगों को जोड़कर स्थानीय लोगों के बेरोजगारी, अति पिछड़े आदिवासी बनवासी बाहुल्य जिले सोनभद्र का सर्वांगीण विकास कराना है।

मोर्चा महासचिव सुरेंद्र कुमार अग्रहरी व गंभीरा प्रसाद ने प्रकाश डालते हुए कहा कि निस्वार्थ भाव से मोर्चे को मिलकर मजबूती प्रदान कराना है और आने वाली पीढ़ीयों के अधिकार का संरक्षण करना है, औद्योगिक कल कारखानों में तय मानक के अनुसार यहां के लोगों को रोजगार / नौकरी नहीं मिल रहा, यहां का बनवासी मजदूरी करने गुजरात महाराष्ट्र पंजाब आदि राज्यों को जाता है स्थानीय कनहर सिंचाई परियोजना में भी लोगों को दैनिक मजदूरी का काम तक नहीं मिल रहा और यहां लाह, हर्रा -बहेरा,तेंदूपत्ता, महुआ, साखू, जो बनवासियों का भरण पोषण का आधार था वह प्रदूषण के कारण विलुप्त हो रहा।

 

साथ हीं मोर्चा के प्रवक्ता एवं मीडिया प्रभारी जितेन्द्र चंद्रवंशी ने कहा कि खनन क्षेत्र व औद्योगिक कल कारखानों में एनजीटी के आदेशों का खुलेआम उल्लंघन किया जा रहा, प्रकृति का दोहन कर प्रदूषित जल प्रदूषित वायु रुपी जहर परोसी जा रही और मानव जगत प्रकृति, पहाड़, नदी,झील का जमकर दोहन खुलेयाम किया जा रहा, पर विस्तार पूर्वक विचार रखा गया, स्थानीय ग्रामीणों द्वारा भी शोषण के बारे में और बेरोजगारों के रोजगार के बारे में जन कल्याणकारी योजनाओं का बंदरबांट किए जाने आदि का जिक्र मोर्चा के समक्ष किया और एक स्वर में सभी ने मोर्चा के विस्तार पर ध्यान दिए जाने की आवश्यकता पर बल देने की बात कही, जल्द ही गांव का संगठन तैयार कर गुर्जर को मजबूती प्रदान किया जाएगा जिससे आदिवासी गिरीवासी बाहुल्य क्षेत्र का सर्वांगीण विकास कराया जा सके l

इस मौके पर ग्राम प्रधान फणीश्वर जायसवाल, किशुन पंखा, रामस्वरूप खरवार, रामाधार चमार, बेचू सिंह, सदाबृक्ष, चंद्रमणि सिंह सहीत दर्जनों लोग मौके पर मौजूद रहे l

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close