स्वास्थ्य

निरंतर ऑक्सीजन के साथ बेडो की संख्या बढ़ाई जाए- डॉ. सतीश द्विवेदी

सोनप्रभात – जितेन्द्र चन्द्रवंशी

  • कोविड 19 संक्रमण से निपटने को लेकर बेसिक शिक्षा मंत्री ने की प्रभारी जिले सोनभद्र की समीक्षा।
  • – वैक्सीनेशन सेंटर्स में 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र को टीकाकरण की करें तैयारी।
  • – ऑक्सीजन बेड करें दोगुने।
  • – ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति का करें प्रबंध।
  • – अस्पताल करें भर्ती करने में आनाकानी तो करें कार्रवाई।
  • – होम आइसोलेशन वाले मरीजों को नियमित करें कॉल, भर्ती मरीजों को भी न हो कोई असुविधा
  • -अधिक संख्या में लोग अस्पतालों से रिकवर होकर लौट रहे घर।
  • – कोरोना के अलावा बाकी मरीजों को असुविधा न हो, करें सुनिश्चित।
  • -जनप्रतिनिधियों से आपसी संवाद निरंतर स्थापित रहे।

सोनभद्र।बेसिक शिक्षा मंत्री एवं प्रभारी मंत्री सोनभद्र डॉ. सतीश द्विवेदी ने शनिवार को सोनभद्र में कोविड 19 के संक्रमण से निपटने की तैयारियों की संबंधित विभागों के साथ वर्चुअल समीक्षा की।प्रभारी मंत्री डॉ. सतीश द्विवेदी ने जिलाधिकारी को सभी विभागों के समन्वय से सफाई, दवाई और कड़ाई से जुड़े नियमों का गंभीरता से अनुपालन कराने के निर्देश दिए।प्रभारी मंत्री ने ऑक्सीजन बेड की संख्या दोगुनी करने के निर्देश दिए। उन्होंने डीएम को, सभी अस्पतालों को ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति होती रहे यह सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए।

  • ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए जिले में स्थित कंपनियों की सहायता ली जाय।
  • दुद्धी में बंद पड़े ऑक्सीजन प्लांट को तत्काल संचालित कराया जाय।
  • प्रभारी मंत्री ने होम आइसोलेशन वाले मरीजों को नियमित कॉल कर उनका हाल जानने और पॉजिटिव मरीजों को मेडिकल किट उपलब्ध कराने के लिए कहा। 

उन्होंने कहा कि इसके अलावा भर्ती मरीजों को भी कोई असुविधा न हो, यह सुनिश्चित करें।अस्पतालों में L2 बेड की संख्या दुगुनी की जाय।प्रभारी मंत्री ने कहा कि 1 मई से वैक्सीनेशन का तीसरा चरण शुरू हो रहा है। अब 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगनी है, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग तैयारियां पूरी करे और डीएम इसकी मॉनिटरिंग करें।

प्रभारी मंत्री ने लैब की टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के लिए कहा, जल्द रिपोर्ट आने पर संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी। उन्होंने शहर के सभी सरकारी व निजी सैम्पल कलेक्शन सेंटर पर फिजिकल डिस्टेनसिंग का ध्यान रखने और सेंटर को लगातार सैनिटाइज कराने पर जोर देने के निर्देश दिए। ताकि टेस्ट कराने जाने वाले लोग अन्य लोगों से संक्रमण का शिकार न हों।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि जिलाधिकारी सुनिश्चित करें कि लक्षणों के बाद भी मरीजों को भर्ती करने में कोई भी अस्पताल आनाकानी न करे। भर्ती के लिए आरटीपीसीआर के अलावा सीटी स्कैन, एक्सरे व एंटीजेन टेस्ट को भी आधार मानें। कोरोना के मरीजों के अलावा बाकी मरीजों के लिए स्वास्थ्य विभाग टेलीमेडिसिन की भी व्यवस्था करे।
अस्पताल में भर्ती मरीजों के इलाज के साथ ही भोजन और काढ़ा आदि की उपलब्धता सुनिश्चित की जाय।संक्रमण वाले क्षेत्रों में नगर निगम के साथ पुलिस प्रशासन माइक्रो कन्टेनमेंट जोन का कड़ाई से पालन कराये।प्रभारी मंत्री ने नगर निगम के सभी जोन में सैनिटाइजेशन बढ़ाने और लगातार छिड़काव के निर्देश दिए।प्रभारी मंत्री ने कहा कि पिछली बार की तरह ही इस बार भी टीम इंडिया कोरोना को परास्त करेगी, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग, पुलिस-प्रशासन, नगर निगम, विद्युत कार्मिक, स्वच्छता कार्मिक और पत्रकार बंधु अपना महत्वपूर्ण योगदान दें।

बैठक में जिलाध्यक्ष भाजपा अजीत चौबे, सांसद राज्यसभा राम शकल, विधायक रॉबर्ट्सगंज भूपेश चौबे, विधायक घोरावल अनिल मौर्या, विधायक ओबरा संजीव गौड़, जिलाधिकारी अभिषेक सिंह, प्रo पुलिस अधीक्षक सुधा सिंह, प्रo मुख्य चिकित्साधिकारी डॉo बी. के अग्रवाल, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. के. अग्रवाल, अपर जिलाधिकारी योगेंद्र बहादुर सिंह, उपजिलाधिकारी घोरावल, उपजिलाधिकारी सदर, उपजिलाधिकारी ओबरा, उपजिलाधिकारी दुद्धी उपस्थित रहे।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close