मुख्य समाचार

सोन छात्र संघ ने निजी विद्यालयों में व्याप्त मनमानी फीस वसूली को लेकर करेगा आवाज बुलंद

 

  • सोनभद्र में युवाओं के शिक्षण व फीस में ज़्यादती समेत अन्य परेशानीयो को लेकर सोन छात्र संघ रहेगा पूर्ण मदद।

 

उमेश कुमार , सोनप्रभात –

 

बभनी , सोनभद्र –

बभनी । सोनभद्र जनपद में संचालित समस्त निजी विद्यालयों, सरकारी व अर्द्धसरकारी विद्यालयों में जिस प्रकार से विद्यार्थियों को अनेक प्रकार की शुल्क लेकर परेशान किया जाता है तब जाकर इस क्षेत्र के लोगों को पठन-पाठन कराया जाता है जिसे लेकर निजी विद्यालयो में व्याप्त मनमानी फीस को लेकर सोन छात्र संघ के अध्यक्ष (हर्षित दुबे) व सहायक अध्यक्ष (चंदन पांडेय) के द्वारा व उनके साथ कार्यरत कई युवा छात्रों ने युवाओ के सहयोग हेतु सोन छात्र संघ का निर्माण किया गया है जिसके सदस्य (प्रियांशु पांडेय) सवरा निवासी सोन छात्र संघ से जुड़े (रविकांत पांडेय) व नधिरा से सोन छात्र संघ से जुड़े (प्रियांशु दुबे (राहुल)), सतीश जायसवाल, जितेंद्र दुबे, ओम पांडेय, युवराज केशरी, अमित सिंह व अन्य भाई लोगो के सहयोग से सोन छात्र संघ का निर्माण किया गया।

जिसके तहत निजी विद्यालयो के द्वारा मनमानी फीस,ट्यूशन फीस, आदि को जबरजस्ती लेने की सूचना पर आवाज़ बुलन्द कर आवाज उठाई जाएगी।

वही ऑनलाइन क्लास से जुड़े विद्यार्थियों को ग्रुप से न निकाला जाए इस बात का निजी विद्यालय के प्रबंधक ध्यान में रखकर अध्ययन पर जोर दे।

यह छात्र संघ के द्वारा सदा विद्यार्थियों के परेशानीयो को लेकर युवा विद्यार्थियों के हित में आवाज उठायी जाएगी। जिसे लेकर जिला अधिकारी को लिखित पत्र देकर विद्यार्थियों के हित के लिए आवाज बुलंद की जाएगी जिस प्रकार से क्षेत्र में संचालित निजी विद्यालयो के द्वारा अधिकतर विद्यार्थियों से कभी कभार ज्यादा पैसे वसूलने का मामला संज्ञान में आती रहती है जिसे लेकर हम युवाओं द्वारा निर्माण किए गए संस्था सोन छात्र संघ के समस्त पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं द्वारा विद्यार्थियों के हित में आवाज उठाकर समस्या का निदान कराया जाएगा।

Live Share Market

जवाब दीजिए

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close