प्रकृति एवं संरक्षणमुख्य समाचार

अवैध खनन-: करहिया बोधाडीह में नही रुक रहा अवैध खनन का खेल, जिम्मेदार नही ले रहे सुधी।

  • बोधाडीह करहिया में दिन रात कनहर नदी का हो रहा चीरहरण।
  • करहिया बोधाहाडीह में चल रहा बालू उत्खनन का मिनी लीज।
  • कनहर नदी में ताबड़तोड़ अवैध खनन से नदी का विगड़ रहा स्वरूप।
  • खनन कार्य मे लिप्त ट्रेक्टरों से सैकड़ो ट्रैक्टर निकाला जा रहा प्रतिदिन बालू।
  • एनजीटी के नियमों को धता बता जलजीवों के प्रजनन काल में बोधाडीह से करहिया के बीच चलती धारा में कुरी मारकर दिन भर बालू छान रहे दर्जनों मजदूर।
  • लोंगो ने कहा खोखा बालू साइट बन्द होने के बाद शुरू हो गया है अवैध मिनी बालू चलाये जाने का खेल।

विंढमगंज/सोनभद्र
पप्पू यादव -जितेंद्र चंद्रवंशी – सोन प्रभात

विंढमगंज/सोनभद्र| ताबड़तोड़ अवैध खनन के नाम में शुमार स्थापित जनपद सोनभद्र में अवैध रेत का उत्खनन व बोल्डर खनन का पुराना नाता है,लेकिन यहां दुद्धी तहसील क्षेत्र के दुरूह गाँव करहिया व बोधाडीह में तो कनहर नदी से अवैध रेत उत्खनन का नंगा नाच हो रहा है ,दो दर्जन की संख्या में ट्रेक्टरों से प्रतिदिन कनहर नदी का निर्मल धारा चीरहरण कर सैकड़ो ट्रैक्टर बालू का उत्खनन प्रतिदिन किया जा रहा है ,चालाक खननकर्ताओं ने नदी की चलती धारा के बीच से मजदूरों से कुरी मरवाकर रेत निकलवा रहे हैं जिससे नदी में कही भी बालू का उठाव दिख ना सके|

करहिया गाँव के ग्रामीणों की सूचना पर जब मीडिया कर्मियों ने पड़ताल की तो शाम साढ़े पांच बजे का मंजर कुछ इस कदर था कि दिल दहल जाए ,नदी के चार मुहानों पर अलग – अलग थे 4 से 5 की संख्या में ट्रैक्टर रेत खनन कार्य में जुटे हुए थे, और दर्जनों लेबर द्वारा प्रत्येक घाट पर हर 20 मिनट पर एक ट्रैक्टर नदी से बालू लोड कर निकल रहा था|

ग्रामीणों ने बताया कि खनन कार्य हेतु बोधाडीह करहिया सहित ,हरनाकछार ,विंढमगंज व कुड़वा तक के ट्रैक्टर था अवैध रेत का उत्खनन को आते है और गाँव भर जगह जगह 5 से 10 ट्राली का भंडारण कर देते है ,रात्रि में यह बालू टिपर पर लोडिंग कर उसे घिचोरवा वन चौकी के रास्ते कोन थाना क्षेत्र के कुड़वा ,कचनरवा सहित कोन बाजार तथा ओबरा व सोनभद्र को भेजी जा रही है ,ग्रामीणों ने बताया कि जब से खोखा बालू साइट बन्द हुआ है तब से यहां टिपर लोडिंग एक मिनी साइट शुरू हो गया है।

बीच में अखबार में खबरों के प्रकाशन के बाद अधिकारियों के दौरे के दौरान एक दो दिन बन्द रहने के बाद पुनः बदस्तूर शुरू हो जाता है ,पिछले ढाई साल से यह खेल बेख़ौफ़ चल रहा है | दुद्धी तहसील में अवैध खनन रोकथाम के लिए दुद्धी एसडीएम ने राजस्वकर्मियों की गोपनीय टीम गठित की है जिसमें कई लेखपाल शामिल हैं ,ग्रामीणों ने बताया कि करहिया व बोधाडीह का हल्का लेखपाल सुशील पांडेय का है लेकिन उनका गाँव में आना कम होता है ,जो कभी कभार दिखते हैं|लेखपाल सुशील पांडेय अवैध खनन रोकने को गठित राजस्व टीम में शामिल बताये जा रहें हैं|

  • हिदायत के बाद भी इलाकों में हो रहे अवैध की सूचना देने में साधी चुप्पी

सोनभद्र| दुद्धी उपजिलाधिकारी रमेश कुमार ने हल्का लेखपालों को बार बार नोटिस जारी कर उनके हल्के में हो रहे अवैध खनन सूचना व रिपोर्ट देने के निर्देश दिए है उसके बाद भी करहिया व बोधाडीह के हल्का लेखपाल की चुप्पी संदेह के घेरे में है|

  • तहसील क्षेत्र के थाना व वन रेंज विंढमगंज में खनन हुआ बालू का कोन थाना ओबरा वन प्रभाग में हो रही तस्करी

सोनभद्र| बोधाडीह व करहिया का खनन स्थल कनहर नदी का किनारा तो दुद्धी तहसील क्षेत्र विन्धमंगज वन रेंज व थाना के अंतर्गत है लेकिन यहां से निकाला गया बालू कोन थाना क्षेत्र व ओबरा वन प्रभाग में तस्करी की जाती है ,यहां से निकाला गया बालू बड़े आसानी से साढ़े चार से पांच हजार में टिपर चालकों को मिल जाती है जो बजे आसानी से दूरी के हिसाब से 16 से 20 हजार में बेच दी जा रही है|

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close