मुख्य समाचारस्वास्थ्य

कायाकल्प की 3 सदस्य टीम सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दुद्धी जांच को पहुंची।

  • कायाकल्प की 3 सदस्य टीम सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दुद्धी जांच को पहुंची।
  • वेस्ट मैनेजमेंट, ब्लड प्रबंधन से लेकर कई कक्ष में मिली खामियां।

दुद्धी – सोनभद्र / जितेंद्र चंद्रवंशी – सोन प्रभात

दुद्धी सोनभद्र सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आज कायाकल्प की 3 सदस्य टीम पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत जांच को पहुंची, कायाकल्प की टीम सर्वप्रथम सरकार का महत्वपूर्ण उपक्रम प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत प्राप्त बजट के उपयोग के बारे में संबंधित कर्मी से पूछताछ किया हैरत की बात है कि सीएचसी दुद्धी में प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत मरीजों के उपचार की कोई समुचित व्यवस्था मुकम्मल नहीं थी, नहीं वार्ड में इस योजना का किसी मरीज को मिल रहा है लाभ , तत्पश्चात आयुष्मान कक्ष से सटे खिड़की को तख्ती लगाकर गंदगी पर पर्दा डाला गया था की पड़ताल के उपरांत, ओपीडी भवन में पहुंच कर दंत चिकित्सा अधिकारी आलोक कुमार एवं संबंधित स्टाफ से रक्त जमीन पर गिरने पर क्या सावधानी रखनी चाहिए की पूछताछ की गई जिसका समुचित जवाब नहीं मिल सका।

तत्पश्चात एचआईवी जांच कक्ष ( आईटीसीटी ) में टीम पहुंची और संबंधित कर्मी से एचआईवी संक्रमण के बारे में पूछताछ पर संतोषजनक उत्तर कर्मी ए के शुक्ला द्वारा प्रदान किया गया व अन्य संबंधित कक्ष में पहुंच कर ग्लवस डस्टबिन में पाए जाने और कचरा रखरखाव पर संतोषप्रद उत्तर नहीं मिलने पर उन्हें समुचित जानकारी टीम द्वारा प्रदान की गई।

सटे कक्ष साथिया केंद्र पर उपलब्ध महिला कर्मी से किशोरावस्था में महिला और पुरुषों को क्या जानकारी प्रदान कराई जाती है पूछा गया जिस पर संक्षिप्त उत्तर कर्मी द्वारा प्रदान किया गया।

तत्पश्चात पैथोलॉजी ( ब्लड जांच ) कक्ष में फर्श पर रक्त गिरने पर क्या करना चाहिए का प्रश्न है यहां भी पूछा गया जिसका एलटी द्वारा अपूर्ण उत्तर उपरांत हैंड वॉस एलटी से करने की विधि टीम द्वारा पूछी गई और करके दिखाने को कहा गया जिसमें समुचित अंक जांच में नहीं मिल सका अर्थात हैंड वॉश की विधि बताने में कर्मी नाकामयाब रहे l

 

बहुरंगी भवन में दिखावटी अग्निशमन सिलेंडर डेट एस्पायर एक पाया गया जबकि दूसरा ठीक था l स्टाफ नर्स से पीपीई किट के बारे में जानकारी पूछी गई जो संतोषप्रद रहा तत्पश्चात ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के साफ-सफाई रखरखाव के बारे में व बायो वेस्ट मैनेजमेंट आदि ke बारे में स्टाफ नर्स निरुत्तर दिखी l महिला प्रसव कक्ष के रखरखाव के बारे में भी संबंधित कर्मी से पूछताछ की गई, सटे पर्दे के पीछे गंदगी की फोटो टीम द्वारा ली गई, ब्लड बैंक पहुंच कर टीम जांच करने पहुंची थी कि कक्ष में स्लीपर एक-दो ही पाए गए l अर्थात ब्लड बैंक कक्ष की व्यवस्था प्रारंभ में ही कमी पाई गई l

 

कायाकल्प की जांच टीम ऊपरी तल पर नहीं जा सकी और हॉस्पिटल का पहली बार टीवी आनन-फानन में चालू दिखा, हॉस्पिटल का पिछला हिस्सा रंग रोगन दूसरी बार कायाकल्प की जांच टीम पहुंची परंतु उस स्थल पर एक्सपेंशन करने आई टीम नहीं पहुंच सकी l जहां आज तक हॉस्पिटल की पुताई तक नहीं की जा सकी है l जच्चा बच्चा टीकाकरण केंद्र पर जांच टीम पहुंची और वेस्ट मैनेजमेंट में खामी के अलावा टीकाकरण से संबंधित समुचित उत्तर टीम को स्टाफ नर्स द्वारा प्रदान कराया गया l हॉस्पिटल के कर्मचारी पहली बार यूनिफॉर्म में दिखे l ओपीडी मेडिसिन भी हॉस्पिटल में पूर्ण नहीं थे आईपीडी में इंजेक्शन वगैरा दवा की बात डीपीएमओ द्वारा टीम को बताई गई, जबकि खुलेआम मरीज बाहर मेडिकल से महंगी दवाइयां कागज के चुटके पर लेते देखे जा सकते हैं l

 

कचरा निस्तारण से लेकर अगर सभी फैकेल्टी की बात की जाए तो बेसिक खामियां मेंटेन हॉस्पिटल की नहीं थी, कायाकल्प की टीम एनआरसी वार्ड अन्य मेडिसिन रखरखाव, एक्सरे, दवा स्टोर का आदि की पड़ताल करने में विफल रही l मीडिया को दिए बयान में टीम द्वारा बताया गया कि जांच रिपोर्ट से विभाग को अवगत कराया जाएगा l और कुपोषित बच्चों के धन आवंटन कर एनआरसी वार्ड की व्यवस्था ठीक कराई जाएगी l हॉस्पिटल में क्या खामियां मिली इसका जांच टीम उत्तर नहीं दे सकी बल्कि जांच को लेकर सुदूर सामुदायिक हॉस्पिटल की पीठ थपथपाने से नहीं चूके l जबकि हॉस्पिटल के मैनेजमेंट से लेकर रखरखाव ब्लड प्रबंधन, कचरा निस्तारण, वेस्ट मैनेजमेंट स्टाफ का मरीज के प्रति आचरण व्यवहार से लेकर टेलीमेडिसिन कक्ष में कई माह से लटकते ताले आदि मौलिक चीजों पर कायाकल्प टीम दिशा निर्देश नहीं दे सकी l

 

जांच टीम में डॉक्टर आरपी सोलंकी, डॉ पंकज मौर्या, कैफ अख्तर डीपीएम, रिपुंजय श्रीवास्तव, हिंडालको से प्रशांत कुशवाहा सीएसआर, सत्येंद्र सिंह यूनिसेफ, धर्मेंद्र कुमार प्रदीप कुमार सहित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉक्टर मनोज कुमार एकका, बी पी एम ओ संदीप सिंह, ब्लड बैंक अधिकारी डॉक्टर प्रकाश चंद जायसवाल आदि स्वास्थ्य कर्मी मौके पर मौजूद रहे l

 

Live Share Market

जवाब दीजिए

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close