मुख्य समाचार

डीजे की धुन पर नाचते हुए होलिका दहन सम्मत गाड़ने पहुँचे दुद्धी नगरवासी, 18 को मनेगी होली।

  • सनातन आदिवासी परंपरा संवाहक बैगा नें सेमर के लकड़ी का सम्मत गाड़ हवन पूजन कर प्रारंभ किया।
  • दुद्धी में होली 18 मार्च को मनाई जाएगी।

दुद्धी – सोनभद्र / जितेंद्र चंद्रवंशी – सोन प्रभात

दुद्धी सोनभद्र सैकड़ों वर्षो से सनातनी अनादिकाल की परंपरा अनुसार होलिका दहन की दुद्धी की परंपरा का आगाज हिंदू धार्मिक मतावलंबी दुद्धी की मात्र संस्था श्री रामलीला कमेटी के नेतृत्व में डीजे की धुन पर नाचते गाते उत्साहित हिंदू जनमानस नगर भ्रमण उपरांत सनातनी आदिवासी परंपरा अनुसार अद् -भूत परंपरा सेमर के पेड़ की टहनी को परंपरा के प्रकृति संवाहक पूज्य बैगा द्वारा काटा जाता है।

ज्ञात कराना है, कि टहनी को काटने के उपरांत जमीन पर टहनी नहीं गिरने दी जाती है, और बैगा को गाली देने की रस्मो रिवाज का आस्था के साथ पालन मौजूद हिंदू जनमानस द्वारा किया जाता है, तत्पश्चात उक्त सेमर की टहनी को होलिका दहन का स्थल पर बैगा द्वारा विधि विधान से पूजा उपरांत सम्मत गाड़े जाने की अदभुत परंपरा रही है, सम्मत गाड़ते समय भी जनमानस द्वारा बैगा को गाली देने की हजारों वर्षों की परंपरा रही है।

उक्त परंपरा का पालन करते हुए रामलीला कमेटी के संरक्षक नंदलाल अग्रहरि, भोला नाथ आरती,व आलोक कुमार अग्रहरी, संदीप कुमार गुप्ता, चेयरमैन राज कुमार अग्रहरी, कमल कुमार कानू जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव , शिव शंकर गुप्ता , प्रेमचंद यादव , दिलीप कुमार पांडेय, जितेंद्र कुमार चंद्रवंशी, डॉ विनय कुमार, संतोष कुमार आनंद कुमार, नज्जू अग्रहरि, सहित सैकड़ों लोक आस्था और उमंग के साथ मौके पर मौजूद रहे।

Live Share Market

जवाब दीजिए

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close