मुख्य समाचार

सादगी के प्रतीक थे बच्चा पाठक – कीर्ति पाठक

  • पांचवी पुण्य तिथि पर किया गया नमन।

विंध्य नगर – सिंगरौली / सुरेश गुप्त ग्वालियरी – सोन प्रभात

इसी बात से उनका व्यक्तित्व आंका जा सकता है कि उत्तर प्रदेश के सात बार विधायक व दो बार कैबिनेट दर्जे के मंत्री बनने के बावजूद भी आपने सदैव अपने क्षेत्र ही नही बल्कि आम जन मानस के दुख दर्द में हमेशा खड़े रहे !! आज मेरी भी कुछ स्मृतियां ताजी हो गई बाबा के बारे में!! सादगी इतनी थी कि जब लोकतांत्रिक कांग्रेस के शासन में आप पर्यावरण मंत्री बने तब सोनभद्र दौरे के अंर्तगत ओबरा गेस्ट हाउस में हम लोग उन्हें रिसीव करने पहुंचे साथ में हमारे जिला अध्यक्ष पूर्व ब्लाक प्रमुख ( चोपन)श्री राजनारायण सिंह श्री इंद्र देव सिंह श्री श्रीकांत दुबे मैं सुरेश गुप्ता अध्यक्ष रेणुकूट सहित सैकड़ों कार्यकर्ता थे!! बाबा सभी से कुशल।क्षेम के साथ ही समस्याओं से भी अवगत हो रहे थे!! तथा अविलंब फोन मिलाकर संबंधित विभाग से निराकरण का आदेश दे रहे थे !!

यह था उनका कार्यकर्ताओं के प्रति स्नेह!! दूसरे दिन मंत्री का रेणुकूट दौरा था , अत: अध्यक्ष के नाते मैं भी उनके साथ ही गाड़ी में था , संस्थानों से गंदा पानी निकलने पर आपने गंभीर चेतावनी भी दी यह था बाबा का पर्यावरण के प्रति सजगता व स्नेह!! मिलनसार और सादगी का एक और उदाहरण देखिए मैं घोरावल निवासी तत्कालीन हमारे दल लोकतांत्रिक कांग्रेस की युवा अध्यक्ष श्री कांत दुबे का साथ विधायक निवास में उनसे मिल गए , बाबा एक दम मस्ती के मूड में थे आओ पहले ताश खेलते है फिर बाते होगी !! ऐसे हंसमुख व सादगी पूर्ण व्यक्तित्व थे हमारे बाबा!!
आज यादें ताजा हो गई जब उनके ही परिवार के युवा और भाजपा के कद्दावर नेता कीर्ति पाठक ने उनकी पुण्य तिथि पर मुझे समाचार प्रकाशित करने हेतु शोक संदेश प्रेषित किया!! आपने बताया कि बाबा ने सामान्य किसान परिवार में जन्म लेकर एक उच्च मुकाम हासिल किया था!! आपने साइकिल से अपनी राजनीति का सफर प्रारंभ किया था, इस राजनैतिक सफर में आपने बहुत उतार चढ़ाव देखे परंतु उन्होंने कभी हिम्मत नही हारी!! इसी का सुपरिणाम था आपने सात बार विधायक व दो बार वरिष्ठ मंत्री बनकर प्रदेश व क्षेत्र का प्रतिनिधत्व किया!! मुझे गर्व है आज उनके आदर्श व प्रेरणा कुछ अच्छा करने के लिए प्रेरित करते है!!
आज पांचवी पुण्य तिथि पर परिवार, मित्रों तथा चाहने वालो की ओर से शत शत नमन!! अश्रु पूर्ण श्रद्धांजलि!!

Live Share Market

जवाब दीजिए

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close