मुख्य समाचार

अधिकारियों के जांच में अनुपस्थित पाए जाने पर वेतन अवरुद्ध की संस्तुति।

सोनभद्र-सोनप्रभात- वेदव्यास सिंह मौर्य

सोनभद्र जिले में दिनांक-27 अप्रैल, 2022 को डॉ0 अमित पाल शर्मा मुख्य विकास अधिकारी ने विकास खण्ड नगवां में कराये जा रहे विभिन्न विकास कार्यक्रमांें का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण निरीक्षण के समय श्री रामशिरोमणि मौर्य परियोजना निदेशक, जिला ग्राम्य विकास अभिकरण, श्री शेषनाथ चौहान उपायुक्त श्रम रोजगार, श्री अरूण जौहरी, उपायुक्त स्वतः रोजगार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी तथा खण्ड विकास अधिकारी नगवां उपस्थित थे। निरीक्षण का विवरण निम्नवत् है-
1-कम्पोजिट विद्यालय पटवध- इस विद्यालय में श्री रामचन्द्र व खुशबू, सहायक अध्यापक एवं श्री उमेश द्विवेदी शिक्षामित्र कार्यरत है। श्रीमती रचना परिहार, सहायक अध्यापक सी0सी0एल0 पर हैं। प्राथमिक विद्यालय में 76 के सापेक्ष 26 तथा उच्च प्राथमिक विद्यालय के 55 के सापेक्ष 36 छात्र/ छात्राएं उपस्थित मिले। छात्रों के उपस्थिति की संख्या मानक के सापेक्ष कम है। खण्ड शिक्षा अधिकारी श्री अमित दूबे से छात्रों की संख्या कम होने के संबंध में पूछ-ताछ की गयी, तो उनके द्वारा कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया गया और न ही सम्बन्धित सहायक अध्यापकों द्वारा छात्रों की संख्या बढ़ाने में कोई रूचि ली जा रही है। तत्क्रम में श्री रामचन्द्र सहायक अध्यापक, खुशबू सहायक अध्यापक तथा श्री उमेश शिक्षामित्र का वेतन अवरूद्ध करते हुए उन्हें कारण बताओं नोटिस जारी का निर्देेश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को दिया गया। इसके अतिरिक्त अपने पदीय दायित्वों के निर्वहन में शिथिलता बरते जाने पर खण्ड शिक्षा अधिकारी श्री अमित दूबे को कारण बताओ नोटिस निर्गत करते हुए तीन दिवस में स्पष्टीकरण जारी करने का निर्देश जिला बेसिक अधिकारी को दिया गया। विद्यालय का शौचालय ठीक है तथा पेयजल हेतु हैण्डपम्प एवं उसमें सबमर्सेबुल लगा है
2-प्राथमिक विद्यालय चौखड़ा- इस विद्यालय में एक सहायक अध्यापक तथा एक शिक्षामित्र कार्यरत हैं, परन्तु निरीक्षण के समय शिक्षामित्र अनुपस्थित पाये गये। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया कि शिक्षामित्र का ‘‘नो वर्क नो पे’’ के आधार पर मानदेय अवरूद्ध करते हुए भुगतान न किया जाय। विद्यालय में पानी हेतु सबमर्सेबुल लगा है तथा शौचालय साफ-सुथरा एवं ठीक है।
3-आंगनबाड़ी केन्द्र चौखड़ा- आंगनबाड़ी केन्द्र पर वी0एच0एन0डी0 का आयोजन किया गया था। निरीक्षण के समय श्रीमती गीता देवी आशा कार्यकर्त्री, इन्द्रावती आंगनबाड़ी उपस्थित थी तथा श्रीमती विभा राय, ए0एन0एम0 अनुपस्थित थी, जबकि वी0एच0एन0डी0 के दिन उपस्थिति अनिवार्य होती है। तत्क्रम में श्रीमती विभा राय का वेतन अग्रिम आदेश तक अवरूद्ध किया जाता है तथा प्रभारी चिकित्साधिकारी नगवां से स्पष्टीकरण उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये। मुख्य चिकित्साधिकारी अनुपालन सुनिश्चित कराकर एक सप्ताह के भीतर अवगत कराना सुनिश्चित करें।
आंगनबाड़ी कार्यकर्त्री द्वारा निरीक्षण हेतु अभिलेख प्रस्तुत किये गये। ड्यूलिस्ट में शिशुओं एवं गर्भवती महिलाओं का फार्मेट नहीं भरा गया है, जबकि एक दिन पूर्व ही इस भरा जाना चाहिए। पोषाहार वितरण रजिस्टर में 36 बच्चों का नाम अंकित है, जो 07 माह से 03 वर्ष तक की आयु के हैं। इसके अतिरिक्त 12 गर्भवती महिलाएं हैं। पोषाहार का वितरण समय-समय पर किया गया है, जिसका अंकन रजिस्टर में है। सैम बच्चों की संख्या 01 है, 03 वर्ष से 05 वर्ष की आयु के पंजिका में संतोषी पुत्री रमन उम्र 03 वर्ष वनज 12.7 कि0ग्रा0 है, जिन्हें ग्रोथचार्ट में भी अंकित किया गया है। आंगनबाड़ी कार्यकर्त्री द्वारा अभिलेखों का रख-रखाव अच्छी तरह से किया गया है, जिला कार्यक्रम अधिकारी उक्त आंगनबाड़ी कार्यकर्त्री को प्रशस्ति पत्र देना सुनिश्चित करें। केन्द्र पर वजन एवं लम्बाई नापने की मशीन उपलब्ध है।
4-मनरेगा-कम्पोजिट विद्यालय पटवध की छत से रेन हार्वेस्टिंग के लिए तीन गडढे खोदे गये हैं निरीक्षण के समय काम बन्द पाया गया। इसके अतिरिक्त इस गांव में प्रधानमंत्री आवास /मुख्यमंत्री आवास की छत से रेन वाटर हार्वेस्टिंग हेतु मात्र 10 गडढे खोदे गये हैं। श्री सुजीत कुमार ग्राम पंचायत अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं, खण्ड विकास अधिकारी नगवां द्वारा बताया गया कि ये नियमित रूप से क्षेत्र में उपस्थित नहीं रहते हैं, जबकि इन्हें इस कार्य को पूर्ण करने हेतु बार-बार निर्देशित किया गया है। अतएव श्री सुजीत कुमार ग्राम पंचायत अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश जिला पंचायत राज अधिकारी को दिया गया तथा निर्देशित किया गया कि बिना मेरी अनुमति के इनका वेतन आहरित न किया जाय। यह भी निर्देशित किया गया कि दो दिवस के भीतर रेन वाटर हार्वेस्टिंग का कार्य यदि श्री सुजीत कुमार द्वारा पूर्ण नहीं कराया जाता है तो इनके विरूद्ध विभागीय कार्यवाही करते हुए अधोहस्ताक्षरी को अवगत कराया जाय। (जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा) विद्यालय परिसर को मनरेगा के अन्तर्गत सुन्दरीकरण कराने हेतु खण्ड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया।
ग्राम चौखड़ा के निरीक्षण के समय देखा गया कि पक्की नाली का निर्माण किया गया है, परन्तु सी0आई0बी0 बोर्ड पर कार्य पूर्ण होने की तिथि एवं अन्य प्रविष्टियां अंकित नहीं की गयी है। निरीक्षण के समय श्री संजय सिंह ग्राम पंचायत सचिव अनुपस्थित थे, जिनका वेतन अग्रिम आदेश तक अवरूद्ध किया जाता है, जिला विकास अधिकारी बिना मेेरी अनुमति के भुगतान न करें। खण्ड विकास अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि पंचायत भवन, आंगनबाड़ी तथा प्राथमिक विद्यालय बिजवार पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग के तीन गड्ढे खुदवाये गये है, जिसका निरीक्षण खण्ड विकास अधिकारी द्वारा उपायुक्त श्रमरोजगार के साथ किया गया।

Live Share Market

जवाब दीजिए

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close