प्रकृति एवं संरक्षणमुख्य समाचारराजनैतिक खबरें

मीडिया से इतनी नफरत क्यों? खनन स्थल पर जांच करने पहुँचे एसडीओ मीडियाकर्मी को देख भड़के।

  • स्वतंत्र पत्रकार समिति ने इस प्रकरण का किया निंदा।

जितेंद्र चन्द्रवंशी/आशीष गुप्ता- दुद्धी/सोनप्रभात

अमवार। वन विभाग की हर सम्भव कोशिश के बाद भी क्षेत्र में अवैध खनन रुकने का नाम नही ले रहा है, जबकि वन विभाग अवैध खनन की जांच के नाम पर खानापूर्ति करने में जुटे हुए हैं।

कुछ ऐसे ही योजना के साथ रविवार को विढ़मगंज वन क्षेत्र के कनहर नदी मे अवैध खनन की जांच करने पहुंचे एसडीओ कुंजमोहन वर्मा जैसे ही कनहर नदी में पहुँचे कि एक मीडिया कर्मी को देखकर भड़क गए और जनाब अपनी पोल खुलती देख मीडिया कर्मी को ही पाठ पढ़ाने लगें औऱ अभद्रता करने लगे।


जिसकी ऑडियो मीडियाकर्मी के मोबाइल में रिकॉर्ड हो गया ।एस डी ओ की एक मीडिया कर्मी से बर्ताव को देखकर रेंजर व अन्य वनकर्मी स्तब्ध रह गए। बता दें कि शनिवार को दोपहर बाद डी एफ ओ की गाड़ी लेकर एस डी ओ कुंजमोहन वर्मा अपने दल – बल के साथ अमवार पहुँचे और कनहर नदी में अवैध खनन को देखकर कुछ रणनीति बना रहे थे, कि मीडिया कर्मी के पहुँचते भड़क उठे।

अब सवाल यह उठता है,कि एस डी ओ साहब की कौन सी ऐसी गोपनीय जांच थी या सीक्रेट प्लान था जिसकी गोपनीयता मीडिया में जाने के बाद भंग हो जाती ..?

जन चर्चाओ में था कि ये सब जांच के नाम पर खानापूर्ति करके सेटिंग पर चर्चा तो नही कर रहे थे। जिसकी पोल मीडिया के सामने आते ही खुलती देख साहब भड़क उठे ।हालांकि जांच में क्या पाया गया यह समाचार लिखें जाने तक जानकारी नहीं मिल सकी थी।
इस सम्बंध में एस डी ओ कुंजमोहन वर्मा से इस पर उनका पक्ष जानने के लिए उनके सेलफोन पर सम्पर्क किया गया लेकिन फोन नही लगने के कारण उनका पक्ष नही लिया जा सका । एसडीओ साहब का मीडिया पर भड़कने का कारण चाहे जो भी हो यह तो सिर्फ वही बात सकते है।

इस पूरे प्रकरण को स्वतन्त्र पत्रकार समिति ने गम्भीरता से लेते हुए इसकी घोर निंदा की है। स्वतंत्र पत्रकार समिति के अध्यक्ष उपेंद्र कुमार तिवारी ने कहा कि आये दिन अधिकारियों द्वारा दुर्व्यवहार करने का प्रकरण सामने आ रहा है जो कहीं से भी उचित नहीं है तिवारी ने वन विभाग संबंधित अधिकारियों से इस पूरे प्रकरण की गंभीरता से जांच करते हो दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं महामंत्री जितेंद्र चंद्रवंशी ने भी इस प्रकरण पर अपना आक्रोश व्यक्त किया है।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close