अन्यमुख्य समाचारराजनैतिक खबरें

मनीष विश्वकर्मा मर्डर मामले मे परिजनों के साथ ग्रामीणों का हंगामा,बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात।

खलियारी⁄सोनभद्र 

वेदव्यास सिंह मौर्य– सोनप्रभात

  • 16 मई शनिवार की शाम से लापता था लडका, रविवार की सुबह कीचड में मिली थी लाश।
  • रायपुर पुलिस द्वारा गांव के ही गोलू मिश्रा को माना गया आरोपी। 
  • आरोपी के घर आक्रोशित गांव वाले व मृतक के परिजनों ने मचाया उत्पात।
  • बीच बचाव करने वाले कान्स्टेबल सुनिल वर्मा रायपुर का सर फटा।
  • आरोपी के माता–पिता दोनो को गांववालों ने किया घायल। जिला अस्पताल रेफर।

रायपुर थाना क्षेत्र के दूबेपुर गांव में बिगत शनिवार– रविवार की रात्रि मे मनीष कुमार बिश्वकर्मा की हत्या कर लाश को किचड़ युक्त गड्ढे में फेंक दिया गया था।उक्त मामले में रायपुर पुलिस द्वारा गांव के ही गोलू मिश्रा पुत्र रामनिरंजन मिश्रा को आरोपी बनाया है।

घायल रामनिरंजन मिश्रा आरोपी के पिता – तस्वीर ; सोनप्रभात

पुलिस के अनुसार गोलू मिश्रा ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।उसी के आक्रोश मे गांव के सभी वर्गों के लगभग दो तीन सौ लोग सुबह लगभग 19 मई की सुबह साढ़े सात बजे इकट्ठा होकर रामनिरंजन मिश्रा के घर पर धावा बोल दिया। उनके घर के खपरैल को पीटते हुए परिजनों को पीटना शुरू कर दिया।बीच बचाव करनें पहुंचे का.सुनिल वर्मा रायपुर का भी सर फट गया। उनकी मोबाइल भी किसी ने छीन लिया है तथा रामनिरंजन मिश्रा पुत्र श्यामा मिश्रासरस्वती देवी पत्नी रामनिरंजन बूरी तरह से घायल कर दिए है ।जिन्हें पुलिस द्वारा सीएचसी वैनी मे प्राथमिक उपचार के उपरान्त जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया।

घायल सरस्वती देवी आरोपी की मां – तस्वीर ; सोनप्रभात

सुत्रों के अनुसार लोगों का कहना है, कि  रायपुर पुलिस की घोर लापरवाही के कारण यह घटना घटित हुई है।अगर रायपुर पुलिस ऐहतियात बरती होती, सुरक्षा की मुक्कमल ब्यवस्था की होती तो शायद ऐसी घटना नहीं होती।इस घटना के लिए सीधे तौर पर रायपुर पुलिस जिम्मेदार है।वही सुनिल वर्मा के लिए लोगो का कहना है , कि सादे वर्दी में थाने का सिपाही मिश्रा जी के घर क्या करनें गया था। जब गांव वाले इकट्ठा होने लगे तो मना करने के बजाय वीडियो बनाने लगे जिससे आक्रोशित लोगों ने मोबाइल छीन लिए। लोगों का यह भी कहना है, कि रामनिरंजन अपराधी किस्म के ब्यक्ति हैं दो दशक पूर्व एक मुसहर की हत्या किया था। जिसमें रूपये के बल पर बच गए थे।मनीष हत्याकांड में भी केवल गोलू मिश्रा को आरोपी बनवाकर अन्य लोग बचने के प्रयास में हैं।इसमें शासन सत्ता का दबाव दिलाया जा रहा है।

घायल का० सुनिल वर्मा रायपुर थाना – तस्वीर ; सोनप्रभात

ग्रामीण इसी आक्रोश मे इकट्ठा होकर हंगामा करने के लिए बाध्य हुए।रायपुर पुलिस इसे समझ नहीं पाई जिससे इतनी बड़ी घटना घटित हो गई।रायपुर पुलिस पूरी तरह से जिम्मेदार है।घटना की सूचना जैसे ही जिले के अधिकारियों को मिली तो पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पन्नूगंज, रामपुर बरकोनियां, मांची पुलिस के साथ पुलिस उपाधीक्षक अभिनव यादव, चौकी प्रभारी सुअरसोत, चौकी प्रभारी सरईगढ़ सहित तमाम पुलिस मौके पर डटी रही।

समाचार लिखे जाने तक एक दर्जन से अधिक लोगों को पुलिस द्वारा उठा लिया गया था।

Repost _ 17 May 2020 News: Source – Sonprabhat 

पिछली पुरी खबर यहां पढे–  नाबालिग बालक का शव गड्ढे मे मिला, हत्या की आशंका। 

नाबालिग बालक का शव गड्ढे में मिला,हत्या की आशंका।

 

सोनभद्र के खबरों से लगातार अपडेट रहने के लिए यहॉ क्लिक कर डाउनलोड करे सोनप्रभात मोबाइल न्यूज । 

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close