मुख्य समाचार

शहीद जवानों को अर्पित की विनम्र श्रद्धांजलि, लोगों ने दी प्रतिक्रिया।

सोनभद्र- सोनप्रभात

जितेंद्र चन्द्रवंशी/आशीष गुप्ता

भारत और चीन के बीच हुए हिंसक झड़प में शहीद जवानों  को जिला प्रचारक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ओम प्रकाश जी ने विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की।

जिला प्रचारक ने कहा कि भारत और चीन दोनों पड़ोसी देश हैं,  चाइना को पूरा विश्व और भारतवर्ष जानता है  कि चीन विस्तारवादी नीति अपनाता है। पाकिस्तान जैसे अधर्मी देश के कंधे से निशाना लगता है।  आए दिन भारतवर्ष में डोकलाम से लेकर के आज लद्दाख के गलवान घाटी जैसे क्षेत्र में समस्या उत्पन्न कर रहा है चीन हमारे भारतीय सेना के साथ इतना बड़ा षडयंत्र पूर्वक धोखे से जिस प्रकार से घात लगाकर सेना की हत्या किया है वह बहुत ही कुकृत्य पूर्ण उसका रवैया है इसका भारत के सेना को पुरजोर विरोध करते हुए उन को उसी की भाषा में सबक सिखाना चाहिए और उसके 10 गुना ज्यादा सैनिकों को समाप्त कर देना चाहिए जो होगा देखा जाएगा भारती के पुत्र सेना के साथ हैं।

साथ ही उन्होंने कहा कि भारत और चाइना के मध्य जब 1962 में युद्ध हुआ था उस युद्ध के पश्चात लाइन आफ एक्चुअल कंट्रोल LAC अर्थात वास्तविक नियंत्रण सीमा रेखा पर युद्ध समाप्त होने के कुछ वर्षों पश्चात सरकारें यह तय की थी।  अब कोई कार्यवाही नही होगी जस का तस जो जहाँ है वही रहेगा परन्तु लगातार चाइना युद्ध विराम का उल्लंघन करता चला रहा है सीमा रेखा से लगा हुआ जो क्षेत्र है जहां गलवान वैली में जो लद्दाख में पड़ता है।  वर्तमान में यही घटना घटी है, तथा साथ ही वहां से आगे बढ़ने पर हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, अक्साई क्षेत्र, नेपाल, कैलाश क्षेत्र, तिब्बत क्षेत्र तथा साथ ही मैकमोहन रेखा आदि सिमा रेखापर समस्या उत्पन्न कर रहा है ।


चाइना जैसा देश आज वर्तमान में विश्व को महामारी ही दिया है।  आज पूरे भारतवासियों को एकजुट होकर विधर्मियों को सबक सिखाना चाहिए तथा जो भी सामग्री चाइना में बन रही है या वहां से निर्मित हो रही है जो उसका प्रोडक्ट तैयार हो रहा है टिक-टॉक का वीडियो बनाया जा रहा है।  पूर्ण रूप से हम सबको मिलकर इसका विरोध बहिस्कार करना चाहिए और यही हम सब की देशभक्ति और राष्ट्रभक्ति है जिसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए भारतवर्ष के सभी जनता को इसका पुरजोर विरोध करते हुए उसके निर्मित सामग्री को जलाकर सबक सिखाना चाहिए आज यही हमारा धर्म है। भारतीय सेना जवाब देने के लिए भरपूर प्रयास भी कर रही है और वर्तमान में सेना को आदेश भी दिया गया है और आदेश देने की आवश्यकता भी है। भारतवासी संकट की घड़ी में मां भारती के पुत्र भारतीय सेना के साथ हैं और जो सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए हैं। उनको श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए मां भारती के चरणों में प्रणाम निवेदित करते हैं।

  • जवानों को शत शत नमन-  दिनेश कुमार अग्रहरि (भाजपा वरिष्ठ नेता)

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और दुद्धी बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष दिनेश कुमार अग्रहरी ने कहा कि ” चीन पर कभी भी विश्वास नहीं किया जा सकता कायराना हरकत है ,यशस्वी प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में देश सुरक्षित है ,भारत के वीर जवानों ने मुहतोड़ जवाब देकर चीन के 43 जवानों को मारकर यह साबित कर दिया कि अब देश बदल चुका है , वीर जवानों की शहादत को नमन है ।”

  • देश का प्रत्येक व्यक्ति जवानों के साथ- 

भारतीय जनता पार्टी के निवर्तमान जिला महामंत्री विपिन बिहारी ने कहा कि ” -बदलते परिवेश में भारत 1962 का अब देश नही रहा ,एक इंच जमीन की रक्षा के लिए सरकार प्रतिबद्ध है ,हम अपनी सम्प्रभुता की रक्षा के लिए हर मुमकिन कोशिश करेंगे ये देश सामरिक क्षेत्र में मजबूत हुआ है ,युद्ध हुआ तो अन्जाम भुगतने को तैयार रहे चीन , ये बदला हुआ भारत है ।”

  • जवानों को विनम्र श्रद्धांजलि ,एकजुट है पूरा देश।

दुद्धी क्रिश्चियन चर्च के अध्यक्ष मिथिलेश मशीह ने कहा कि – “चीन द्वारा कायराना हरकत में देश के 20 जवानों की शहादत को नमन मसीही समाज करता है ,जवानों को विनम्र श्रद्धांजलि ,संकट की घड़ी में पूरा देश सरकार के साथ मजबूती के साथ खड़ा है । ”

  • सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रामलोचन तिवारी एडवोकेट ने कहा – 

” चीन जिस तरह करोना महामारी का प्रकोप पूरी दुनिया को दिया है और विश्व के अधिकांश देश इस महामारी को लेकर चीन से सभी देश गुस्से में हैं, उससे बचने के लिए विद्वेषपूर्ण और कायराना हमला चीन सैनिकों के द्वारा निहत्थे भारतीय सैनिकों पर सरकार के इशारे पर किया गया । यह हताशा को दर्शाता है और चीन के लोग सरकार के प्रति महामारी से नाराज हैं उनका ध्यान भटकाने के लिए सुनियोजित साजिश के तहत यह कार्य किया गया, भारत के लोगों का भी चीन के प्रति विद्वेष और घृणा पैदा हो गया है , चीन भूल गया कि वह भारत पर विजय का पताका युद्ध में हराने में कामयाब नहीं होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि अभी तो वीरों ने लड़ाई का ट्रेलर दिखाया है पूरी फिल्म तो अभी बाकी है , दोबारा अगर ऐसी हिमाकत किया गया तो युद्ध की कल्पना करने से भी चीन कतराएगा , चाइना का अगल-बगल के 30 देशों से सीमा विवाद है , वह बेजा हरकत से बाज नहीं आ रहा , ताइवान और  हॉंगकॉंग जैसे देशों में भी चीन को मुंह की खानी पड़ी है , चाइना के सामान का बहिष्कार हो और उसकी कमर आर्थिक रूप से तोड़कर और स्वावलंब होकर जवाब देना होगा। शहीद वीर जवानों को शत शत शत नमन!!

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close