नौकरी,टेक्नोलॉजी एवं उद्योगमुख्य समाचार

दुद्धी की विद्युत व्यवस्था बेपटरी, पिछले 24 घण्टों से भी ज्यादा हो गए गुल हुए।

  • – 3 वर्षो से बोल्टेज मापक पी टी खराब ग्रामीण फीडर उद्घाटन की बाट जोह रहा।
  • 21वीं सदी में अजूबा हुआ विद्युत व्यवस्था 33 हजार में फाल्ट की लाईलाज बीमारी से त्रस्त जनमानस।

जितेंद्र चन्द्रवंशी- दुद्धी,सोनभद्र- सोनप्रभात

दुद्धी सोनभद्र में विद्युत सब स्टेशन में विद्युत विभाग की गैर जिमेददारी के कारण कल रात 1.30 pm से सप्लाई बाधित है ,जिससे आमजनों में गहरा रोष व्याप्त है।

ज्ञात हो कि रनटोला के जंगल में समय से पेड़ों की कटान नहीं होने के कारण आए दिन 33 हजार वोल्ट की फाल्ट का रोना विभाग द्वारा रोया जाता है, उपभोक्ताओ को विद्युत कटौती की कोई सूचना विभाग द्वारा नही दी जाती है और ना ही बिजली कब आएगी इसका किसी को पता होता है । मनमाना कटौती  भी किया जा रहा है।

सोन प्रभात न्यूज ने जीरों ग्राउंड पर जब इसकी पड़ताल की तो 3 वर्षो से विद्युत मापक पी टी खराब है ,परंतु कोई भी विभाग द्वारा इसकी सुध नहीं ली गई और ग्रामीण फीडर बनकर तैयार है और उद्घाटन के बाद जो हो रहा परंतु सुनियोजित तरीके से गैर जिम्मेदार विभाग के लोग ग्रामीण फीडर से तहसील फीडर में विद्युत सप्लाई जोड़ देते है। जिसके कारण दुद्धी शहर की आपूर्ति अक्सर बेपटरी हो जाती है।

विभागीय लापरवाही के कारण बार-बार इस तरीके की परेशानी उपभोक्ताओं को उठानी पड़ती है, जिसे आम जनों में गहरी नाराजगी देखने को मिल रहा है । कहने को तो आजादी के 73 वर्षो बीत गए पर दुद्धी की बिजली बारिश होने पर 33 हजार वोल्ट के फाल्ट का रोना सुनियोजित तरीके से रोया जाता है । विद्युत आपूर्ति में लापरवाही की कोई सुध लेने वाला नहीं है, नगर का प्रथम नागरिक से लेकर तमाम सारे जनप्रतिनिधि केवल विभाग के रोना रोने का इंतजार करते हैं , सरकार के शेड्यूल की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही और मनमाना कटौती कर आमजन में सरकार के प्रति अविश्वास का माहौल जानबूझकर पैदा किया जा रहा है, जिसमें उपभोक्ता को गर्मी और उमस में कठिन परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है करोना वॉरियर्स भी बेसुध विद्युत कटौती से हैं , और घर परिवार के लोग मानसिक रूप से त्रस्त हो रहे हैं जिसकी कोई सुध लेने वाला नहीं सब मशहूर होने में मानो व्यस्त हैं ।

तहसील फीडर की सप्लाई पूर्ण रूप से मानक के अनुसार बहाल करने और ग्रामीण फीडर जल्द चालू करने की मांग की जिससे नगर और गांव की सप्लाई अलग-अलग निर्बाध रूप से चले, साथ ही जे ई विभाग के सब स्टेशन से नदारद थे और 2 स्टाफ के सहारे मौके पर सर्विस स्टेशन का संचालन करते पाया गया । लापरवाही पर जल्द लगाम, जिला अधिकारी सोनभद्र से लगाने की मांग लोगों ने किया है।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close