मुख्य समाचारसोन सभ्यता

लिलासी- शिव मंदिर निर्माण हेतु आगे आये युवा, आरम्भ हुआ कार्य।

  • – नाग पंचमी के अवसर पर साफ सफाई कर निर्माण कार्य किया प्रारम्भ।
  • -श्रावण सोमवार को लिलासी की महिलाएं वर्षों से पूजन -अर्चन करती आ रही।
  • -ठेमा नदी के किनारे लगभग पिछले 16 वर्ष से स्थापित है प्रतीकात्मक शिव पारस, जुड़ी हुई है लोगों की श्रद्धा।

लिलासी – सोनभद्र
आशीष गुप्ता/ दिनेश चौधरी – सोनप्रभात

म्योरपुर विकासखण्ड के लिलासी गांव में ठेमा नदी के किनारे शिव मंदिर के निर्माण का बीणा गांव के ही युवाओं ने उठाया है। नाग पंचमी के अवसर पर मंदिर के आस – पास सफाई कर निर्माण कार्य की नींव डाली गई।

  • शिव पारस कहां से आया?

– सम्भवतः सन 2004 की बात है, ठेमा नदी में एक अद्भुत पारस के निकलने की खबर गांव में आग की तरह फैल गई, लोगों ने पहले उस पारस को कभी नही देखा था। धीरे -धीरे सभी गांव के लोग जाकर उस अद्भुत पारस को देखने नदी में पहुँचने लगे। शिव भक्त स्व0देवनारायण ने उस पारस को उठाकर नदी के किनारे स्व0 फौजदार प्रसाद के भूमि से सटे झरईलटोला बाईपास मार्ग के किनारे शिव पारस को पूरी श्रद्धा के साथ स्थापित किया। हालांकि कुछ सालों के बाद उस शिव पारस को लिलासी बाजार निवासी राजेश कुमार द्वारा अपने घर (बाजार स्थित पंचायत भवन के पास) भी लाया गया। परन्तु पुनः शिव पारस को ठेमा नदी के किनारे ही पूर्व स्थापित जगह पर स्थापित किया गया। जहाँ शिवरात्रि के अवसर पर एक बार सन 2007 में मेला भी लगा।

  • पहले भी मंदिर निर्माण हेतु लोग आए थे सामने-

– लगभग 1 वर्ष पहले गांव के ही प्रबुद्ध जनों द्वारा मंदिर निर्माण हेतु पहल की गई परन्तु कार्य आगे नही बढ़ा।

  • युवाओं ने ली जिम्मेदारी, इनकी रही सहभागिता-

बजरंग दल से जुड़े युवाओं तथा कुछ समाजसेवी प्रकृति के युवाओं ने आगे बढ़कर मंदिर निर्माण की जिम्मेदारी उठाई है। नाग पंचमी के अवसर पर हुकुमचंद, संदीप कुमार, विकास कुमार, अनुराग विश्वकर्मा, चंदन कुमार , आशीष कुमार गुप्ता तथा भुवाली ने आस-पास सफाई कार्य कर निर्माण कार्य की नींव डाली।
मंदिर निर्माण समिति के सदस्य संदीप कुमार ने बताया कि एक छोटा सा ट्रस्ट (समिति) बनाकर गांव वालों की सहायता से हम मंदिर निर्माण कार्य को आगे बढ़ाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने लिलासी जनमानस से इस पुण्य कार्य मे सहायता हेतु अपील भी किया है।

युवाओं द्वारा इस तरह आगे आकर मंदिर निर्माण जैसे पुण्य काम मे नेतृत्व कर भागीदारी निभाना वास्तव में सराहनीय है।सोनप्रभात युवाओं को उनके कार्य मे सफलता की कामना करता है।

Click Here To download the mobile app of Sonprabhat Live From Google Play Store.

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close