प्रकृति एवं संरक्षणमुख्य समाचार

प्रकृति हनन-: विंढमगंज वन रेंज में कट गए कई पेड़, वन विभाग की भूमिका संदिग्ध, ग्रामीणों में आक्रोश।

विंढमगंज – सोनभद्र
पप्पू यादव/ जितेंद्र चन्द्रवंशी- सोनप्रभात

  • विंढमगंज रेंज के बड़ा बासीन टोला में विभिन्न स्थानों से कट गए 5 साखू व 2आसन के पेड़।
  • रेनुकूट वन प्रभाग के विंढमगंज वन रेंज का मामला।
  • ग्रामीणों ने कहा अधिकारियों के दौरे के बाद भी जंगल कटान पर नहीं लग रहा अंकुश।


विंढमगंज रेंज में हरे वृक्षों की कटान और जंगल पर कब्जे रुक नहीं रहें है ,ऐसा तब हो रहा है जब सप्ताह भर पूर्व प्रभागीय अधिकारी ने जंगलों के दौरा किया और रात्रि गस्त बढ़ाने के निर्देश दिए और यहां खुले आम तस्कर दिन में पेड़ो को काटकर बोटा बना रहे है । रेंज में बड़ा बासीन में 5 साखू व 2 आसन के पेड़ बीती रात तड़ातड़ काट दिए गए ,जैसे झिलकों को छीलकर तस्करों द्वारा बोटा बनाया जा रहा है, इसी तरह जंगलों को उजाड़ कर फिर जोताई कर दी जाएगी।

  • वनकर्मियों का भूमिका सन्देहात्मक-

ग्रामीणों ने बताया कि इन सब करतूतों वनकर्मियों की मिलीभगत से इनकार नहीं किया जा सकता।आये दिन जंगल की कटान से साखू व आसन से आच्छादित सैकड़ो हेक्टेयर का बासीन का जंगल उजाड़ होने चला है।
ग्रामीणों ने बताया कि बीती रात बासीन के सुरसा नाला में एक साखू व एक आसन,दोमुंहनी नाला में दो साखू ,चरकपथली में 1 साखू व एक आसन्न तथा चरक पथली नाला में 1 भारी भरकम साखू का हरा पेड़ उड़ा दिया गया और आज सुबह बोटा बनाया जा रहा है।जंगल में ठक ठक की आवाज सुन जब कुछ ग्रामीण युवक जब उक्त स्थलों पर पहुँचे और फ़ोटो बनाने लगे तो तस्कर जंगल मे भाग खड़े हुए।

पर्यावरण कार्यकर्ताओं ने विंढमगंज रेंज में जंगलों की कटान ना रुकने पर गहरा रोष जताया है ,उनका कहना है कि सालों से हरा भरा बेशकीमती पेड़ो का जंगल उजाड़ हो रहा है और विभाग हाथ पर हाथ धरे बैठा है।

Click Here To download Sonprabhat News From Google Play Store.

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close