अन्तर्राष्ट्रीयमुख्य समाचारराजनैतिक खबरें

विचारणीय:- भारतीय सेना के जवान ने सोनभद्र पुलिसकर्मियों पर घरवालों को प्रताड़ित करने लगाया आरोप।

  • भारतीय सेना के जवान राधा रमण राय ने सोनभद्र के पुलिसकर्मियों पर परिवार को प्रताड़ित करने का लगाया आरोप, वीडियो वायरल कर एसपी से मदद की लगाई गुहार।
  • एसपी आशीष श्रीवास्तव ने दिया जांच करने का आश्वासन।

सोनभद्र / रेनुसागर न्यूज अपडेट- सोनप्रभात

  • अनपरा थाना क्षेत्र के रेनूसागर का रहने वाला जवान

सोनभद्र जनपद के अनपरा थाना क्षेत्र के रेनुसागर निवासी  राधारमण राय  भारतीय सेना में सेवारत है।जवान ने अनपरा पुलिसकर्मियों पर रिश्वतखोरी व प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है ।

आपको बता दें कि चीन की सीमा पर बढ़े तनाव के बीच सियाचिन में तैनात सोनभद्र जिले के एक सैनिक राधा रमण राय का वीडियो सामने आया है। जवान राधा रमण ने पुलिस अधीक्षक को पत्र भी लिखा है। जवान का आरोप है कि, उसने चोरी की एक शिकायत दर्ज करवाई थी। लेकिन पुलिस उसके पिता व भाई को परेशान करने के लिए रात में छापे मारती है। साथ ही उनसे पैसे भी मांगती है।

  • पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने बताया- मामले की जांच सीओ पिपरी को सौंपी गई है।
  • पिता ने घर बनवाना चाहा तो चौकी इंचार्ज ने मांगे 25 हजार रुपए।

अनपरा थाना क्षेत्र के रेनुसागर निवासी राधा रमण राय सियाचिन में तैनात हैं। जिनके माता-पिता रेनूसागर कोलगेट में रहते हैं। आरोप है कि, दो वर्ष पूर्व पिता ने घर बनवाने की कोशिश की तो रेनुसागर चौकी इंचार्ज ने 25 हजार रूपए की मांग की। इस पर पिताजी ने पांच हजार रुपए एक सिपाही को दे दिया। लेकिन पुलिसकर्मी फिर भी उनके परिजनों को परेशान करते रहे। घर में तीन बार बिना कारण छापा मारा। बेवजह पिता को थाने में लाकर चार दिनों तक बंद रखा। मां कैंसर की मरीज हैं, फिर भी वो अनपरा थाने के चक्कर लगाती रहीं। पुलिस की प्रताड़ना से तंग आकर मेरे माता-पिता रेनुसागर का घर छोड़कर गांव चले गए।

  • चोरी की घटना हुई मगर पुलिस ने नहीं लिखी एफआईआर।

उन्होंने अपने वीडियो में कहा कि 28 अप्रैल को रेनुसागर स्थित मेरे घर में चोरी हो गई। लेकिन, पुलिस ने मामला दर्ज करने से इंकार कर दिया। पांच मई तक एफआईआर नहीं लिखी गई तो एसपी, आईजी, डीजीपी से शिकायत की तो एफआईआर लिखी गई। लेकिन, एफआईआर लिखने के बाद भी आरोपी पर कार्रवाई नहीं की गई। बल्कि मेरे माता-पिता और भाई को फंसाने की कोशिश की जा रही है।

“सोनभद्र जिला ऐसी अजीबोगरीब और भ्र्ष्टाचार से सम्बंधित खबरों के लिए पिछले काफी सालों से जाना जाने लगा है। सोनभद्र को ऐसे समस्याओं से निजात हेतु विधिवत कार्यवाही की आवश्यकता है।”

जिले के खबरों से बने रहने के लिए यहाँ क्लिक कर डाउनलोड करें सोनप्रभात मोबाइल न्यूज एप्लिकेशन।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close