gtag('config', 'UA-178504858-1'); ज्ञान का परिमार्जन कर स्वस्थ समाज के निर्माण के लिए पुस्तकों का अध्ययन आवश्यक - सत्यनारायण सिंह एडवोकेट। - सोन प्रभात लाइव
मुख्य समाचार

ज्ञान का परिमार्जन कर स्वस्थ समाज के निर्माण के लिए पुस्तकों का अध्ययन आवश्यक – सत्यनारायण सिंह एडवोकेट।

दुद्धी – सोनभद्र / जितेंद्र चंद्रवंशी – सोन प्रभात

दुद्धी सोनभद्र पूर्व राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद की जयंती अधिवक्ता दिवस समारोह के रूप में प्रज्ञा के प्रहरी विद्वान अधिवक्ता गणों द्वारा उल्लास का माहौल में मनाई गई।

कार्यक्रम में वरिष्ठ अधिवक्ता सत्यनारायण सिंह एडवोकेट का माल्यार्पण एवं अंग वस्त्रम देकर अधिवक्ता दिवस पर सम्मानित किया गया l वरिष्ठ अधिवक्ता सत्यनारायण सिंह ने कहा कि अध्ययन एवं अध्यापन के माध्यम से अधिवक्ता ज्ञान का परिष्करण कर वादकारियों को सस्ता और सुलभ न्याय प्रदान कर न्यायपालिका की गरिमा को सदाचरण से आगे बढ़ाएं l वरिष्ठ अधिवक्ता एवं सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रभु सिंह एडवोकेट ने विभिन्न मतभिन्नता के बावजूद न्याय प्रदान करने के लिए अधिवक्ता धर्म एवं पंथनिरपेक्ष होकर कार्य करता है यह संविधान की मूल अवधारणा को अधिवक्ता दर्शाता है।

विद्वान अधिवक्ता नंदलाल अग्रहरि एडवोकेट ने कहा कि अधिवक्ता समाज से होना अधिवक्ता के लिए गर्व की बात है, पूर्व राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद का पैतृक क्षेत्र आज भी विद्वत्ता की गाथा का बखान करता है, संविधान की उत्पत्ति का कारक रीति रिवाज परंपरा एवं संस्कृति का संरक्षण अत्यंत आवश्यक है l पंथ निरपेक्ष राष्ट्र की अवधारणा का मूल सभ्यता एवं संस्कृति है l वरिष्ठ अधिवक्ता ओम प्रकाश मिश्रा ने कहा कि डॉ राजेंद्र प्रसाद जी को जो पूर्व में पेशे से अधिवक्ता थे को अपने मुकदमे की फाइल की पूर्ण रूप से कंठस्थ जानकारी होती थी, पहली बार शैक्षिक उत्थान के समय एग्जामिनर ने छात्र को विषय का जानकार कापी जांचने वालों से बेहतर बताया, ऐसे विद्वान अधिवक्ता से शिक्षा ले अधिवक्ता गण ।

अधिवक्ता सत्यनारायण यादव ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद ने कहा था कि भ्रष्टाचार पर चोट के लिए पक्षपात से दूर विद्वेष एवं कलह का वैचारिक विषपान करना पड़ेगा l बहन की मृत्यु उपरांत शव को घर में छोड़ गणतंत्र दिवस के परेड की सलामी 1960 में राष्ट्रपति ने लिया l और राष्ट्र सर्वोपरि की अवधारणा को आत्मसात किया l राकेश कुमार श्रीवास्तव एडवोकेट ने कहा कि डॉ राजेंद्र प्रसाद के पद चिन्हों पर चलते हुए अपने मुकदमों की अच्छी तरह अध्ययन करने का सुझाव दिया l शिव शंकर गुप्ता एडवोकेट ने विभिन्न राजनीतिक विचारधारा के बावजूद अधिवक्ताओं की एकजुटता पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए अधिवक्ता के गरिमा को बनाए रखने की बात कही l वरिष्ठ अधिवक्ता जवाहरलाल एडवोकेट ने अनुशासित होकर कार्य करने का सुझाव दिया जिससे वादकारियो को सरल रूप से न्याय मिल सके l दिलीप पांडेय एडवोकेट ने डॉ राजेंद्र प्रसाद के पद चिन्हों पर चलने का संकल्प अधिवक्ताओं को दिलाया l इस अवसर पर विभिन्न वक्ताओं द्वारा अपने विचार कार्यक्रम का प्रारंभ पूर्व राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद जी के प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित कर किया गया।

कार्यक्रम का संचालन सिविल बार एसोसिएशन के सचिव मनोज कुमार मिश्रा एडवोकेट द्वारा किया गया l इस मौके पर विद्वान अधिवक्ताकैलाश कुमार गुप्ता, जगदीश्वर प्रसाद जयसवाल, कामेश्वर प्रसाद चौरसिया, विष्णु कांत तिवारी, छोटे लाल अग्रहरि एडवोकेट राकेश कुमार तिवारी एडवोकेट आशीष कुमार गुप्ता एडवोकेट राकेश कुमार अग्रहरि एडवोकेट, रेणु गुप्ता, रेणुवंति गुप्ता, मनोज कुमार आजाद, सुनील कुमार द्विवेदी, डी एस सिंह, इस मौके पर सैकड़ों विद्वान अधिवक्ता मौजूद रहे l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by- SonPrabhat Web Service PVT. LTD. +91 9935557537
.
Close
T20 World Cup 2024 All Team Final List. Sonbhadra News Today