मुख्य समाचार

पशु तश्करो के वाहन के हाई स्पीड चाल से सहमे लोग।

सोनभद्र -सोनप्रभात

  • वेदव्यास सिंह मौर्य

रायपुर थाना क्षेत्र के वैनी व खलियारी बाजार में प्रतिदिन सुबह के वक़्त पशु तस्करो के वाहनों के हाई स्पीड की चाल से क्षेत्रीय लोग भयभीत व सहमें हुए हैं कि भविष्य में कहीं कोई अनहोनी ना हो जाए।
शुक्रवार को सुबह छ बजे सात पीकअप व दो डीसियम पर पशु लादकर पशु तस्कर वाहनो को बेखौफ होकर एक के बाद एक हाई स्पीड में वैनी व खलियारी बाजार होते हुए बिहार राज्य को गये। जिसकी चर्चा खलियारी व वैनी बाजार के हर चट्टी चौराहे व चाय पान के दुकान पर हो रही है कि आखिर कई वर्षों से क्षेत्र में पशु तस्करी का धंधा फल फुल रहा है कई बार क्षेत्रीय लोगों ने पशु तस्करी के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर शिकायत कर चूके है फिर पुलिस विभाग के उपर से लेकर निचे तक सब मौन है आखिर क्यों, इस बात की क्षेत्र में चर्चा-ए-खास बनी हुई है।

 सोनभद्र , रायपुर थाना क्षेत्र के वैनी व खलियारी बाजार की सड़को से होकर बिहार राज्य के लिए प्रतिदिन रात व अल्सुबह में अबैध पशुओ से भरी दर्जन भर वाहन फर्राटा मारते हुए बेखौफ होकर जा रही हैं लेकिन पुलिस एक दम मौन है।

इधर कुछ माह में अबैध पशुओं से लदे पांच वाहनों को ग्रामीणों के द्वारा ही पकड़ा गया या पुलिस को सूचना देकर और पुलिस को सुपुर्द किया गया है।

  • केस नं 1- चार माह पुर्व खलियारी-रावर्ट्रगंज मार्ग पर पनिकप खूर्द गांव के पास एक दूध कम्पनी के कंटेनर में 16 पशुओं से लदे वाहन को ग्रामीणों ने पकड़कर पुलिस को सूपूर्द किया।
  • केस नं-2 दो माह पुर्व शराब पीकर ड्राइवर पशुओं से लदे पीकअप को रतुआ गांव के तरफ से जा रहा था कि पीकअप पलट गयी गांव वाले दौड़े तो ड्राइवर भाग गया तो ग्रामीण ने रायपुर पुलिस को घटना की सूचना दी।
  • केस नं-3,  एक दिसम्बर 2019 को पशुओं से लदा एक पीकअप जिसका एक टायर भ्रष्ट होकर सिर्फ रीम पर ही चल रहा था जो आमडीह गांव में आकर फंस गया तो तस्कर लोग आकर टायर बदलने लगे तभी ग्रामीणों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस के आते ही पशु तस्कर भाग गये और पुलिस टोचन कर गाड़ी ले गये थाने।
  • केस नं-4, चार जनवरी 2020 को रायपुर के युवक के सक्रियता के कारण एक ट्रक लदे पशुओं की गिरफ्तारी हुई है, जिसमें डेढ दर्जन  बैल पशु लदे थे।
  • केस नं-5 – फरवरी 2020 में एक पिकअप मवेशी पङरी से तेनुआ मोड़ पर फंस गयी जिसे पशु तस्करो ने गाङी निकालने का प्रयास करी रहे थे की ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना देकर पशुओं से लदी पीकअप गाङी को पकङवा दिया।

इन घटनाओं को अंजाम देने वाले ग्रामीणों को पशु तस्करो द्वारा कई बार धमकी दी जाती रही है,जिसकी मौखिक जानकारी रायपुर पुलिस को भी की गयी और पुलिस मौन रही इसके बाद भी क्षेत्र के कुछ युवक पशुतस्करों के धमकियों से डरे नहीं बल्कि और बुलंदी के साथ अबैध पशु तस्करी को रोकने के लिए समय समय पर आगे आते रहे हैं। पशु तस्करी कराने के लिए एक सरकारी कार खास व दो प्राइवेट कार खास रखें गए हैं, जो रात भर रोड पर रहते हैं।उन्हीं के द्वारा पशु तस्करी को अंजाम दिया जाता है।इस सम्बंध में सीओ अभिनव यादव से बात की गई तो उनका कहना था कि मुझे इस सम्बंध में कोई खबर नहीं है।अगर ऐसी बात है तो जांच कर कार्रवाई करूँगा।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close