मुख्य समाचार

जिला एवं सत्र न्यायाधीश महोदय को दुद्धी बार एसोसिएशन अध्यक्ष ने 6 सूत्री मांग पत्र सौंपा।

 

  • जे एम कोर्ट स्थापित / सृजित करने हेतु निर्गत आदेश का अनुपालन हो ।
  • पारिवारिक न्यायालय का गठन कराया जाए आदि मांगों का ज्ञापन सौंपा।

जितेंद्र चन्द्रवंशी -दुद्धी- सोनभद्र/सोनप्रभात

दुद्धी सोनभद्र दुद्धी बार एसोसिएशन अध्यक्ष जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव व सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष नागेंद्र नाथ श्रीवास्तव ने एडवोकेट के नेतृत्व में माननीय जिला न्यायालय एवं सत्र न्यायाधीश महोदय जनपद सोनभद्र को 6 सूत्री मांग पत्र सौंपा गया।

जिसमें –

1- यह की माननीय इलाहाबाद उच्च न्यायालय इलाहाबाद द्वारा वाह्य न्यायालय दुद्धी में एक जेएम कोर्ट स्थापित/ निर्गत करने हेतु निर्गत किए गए आदेश का अनुपालन कराने कराने की कृपा की जाए । जेएम कोर्ट के लिए न्यायालय का भवन मानक के अनुरूप सभी इंफ्रास्ट्रक्चर मौजूद है ।

2- यह कि क्षेत्र के गरीब आदिवासी महिलाएं हुआ वाद कारी अभिभावक साधन के अभाव में 80 किलोमीटर दूर स्थित पारिवारिक न्यायालय रावटसगंज में जाकर न्याय पाने में असमर्थ हो जाते हैं , जिससे सरल और सुलभ न्याय दिलाने की पवित्र मंशा धूमिल हो रही है। अतः वाह्य न्यायालय दुद्धी में पारिवारिक न्यायालय का गठन कराया जाए, गठन होने तक प्रत्येक महीने में कम से कम 2 दिन पारिवारिक न्यायालय कैंप कोर्ट लगाया जाए, इसके लिए न्यायालय भवन सभी इंफ्रास्ट्रक्चर मौजूद है ।

3- यह कि दुद्धी वाह्य न्यायालय में सुलह समझौता केंद्र कैंप कोर्ट संचालित होता रहा है। महिला वाद कार्यों को न्याय दिलाने हेतु नियमित रूप से संचालित कराने की कृपा की जाए।

 

4- यह कि वाह्य न्यायालय दुद्धी के क्षेत्राधिकार वाले अनपरा वापी परी थाने के 156(3) सीआरपीसी के प्रस्तुत आवेदन को भी दूधी न्यायालय में संस्थित करने की अनुमति/ आदेश दे जाए।

5 – यह कि वह न्यायालय दुद्धी से 18 से 20 किलोमीटर दूर के कई सीमावर्ती गांव के थाना हाथीनाला के गांव के आदिवासी ,गिरी वासी को 80 किलोमीटर दूर जिला मुख्यालय दूर जाकर न्याय की गुहार करना पड़ता है, इसलिए हाथीनाला थाना के सीमावर्ती गांव के दीवानी मामले की भांति फौजदारी मामले की भी सुनवाई वाह्य न्यायालय दुद्धी में हो।

6- यह कि वह न्यायालय दुद्धी के फौजदारी मामलों में बंद कैदियों का रिमांड दुद्धी न्यायालय में ही प्रस्तुत करने का आदेश दिया जाए।

 

इस प्रकार दुद्धी बार एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने 6 सूत्री मांग पत्र पत्रांक संख्या- DBA /69/5/9120 आज दिनांक 5 सितम्बर 2020 को जिला एवं सत्र न्यायाधीश महोदय को सौंपा । निश्चित रूप से जनहित में वाद कार्यों के लिए उपरोक्त मांग पर गंभीरता पूर्वक विचार करते हुए माननीय न्यायाधीश महोदय पिछड़ा क्षेत्र को सभी मांग पूर्ण कर आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र के आदिवासी गरीबों के लिए मांगे मानी जाए जिससे न्याय सस्ता और सुलभ प्रधान कराया जा सके।

इस मौके पर उप जिलाधिकारी दुद्धी, तहसीलदार दुद्धी पुलिस क्षेत्राधिकारी दुद्धी , प्रभारी निरीक्षक कोतवाली दुद्धी, नगर पंचायत अध्यक्ष दुद्धी आदि गणमान्य लोग को सिविल बार अध्यक्ष एवं दुद्धी बार अध्यक्ष ने जिला एवं सत्र न्यायाधीश महोदय , उप जिलाधिकारी महोदय सहित वरिष्ठ जनों का अंगवस्त्रम से सम्मानित किया तत्पश्चात मुंसिफ कोर्ट परिसर में घूम कर अधिवक्ता गणों ने जिला जज को कोर्ट परिसर घुमाया, और अधिवक्ताओं ने कोर्ट परिसर के जमीनों का अतिक्रमण के बारे में भी अवगत कराया। सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष नागेंद्र नाथ श्रीवास्तव , दुद्धी बार एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव ,नंदलाल अग्रहरी ,दिनेश अग्रहरी एडवोकेट , कुलभूषण पांडेय एडवोकेट , प्रभु सिंह एडवोकेट, आदि वरिष्ठ अधिवक्ता गण मौके पर मौजूद रहे ।


जिला एवं सत्र न्यायाधीश महोदय ने कहा कि मांग पत्र का मेरे अधिकार क्षेत्र में जो भी मांग है , उसको शीघ्र पूरा किया जाएगा साथ ही माननीय उच्च न्यायालय के अधिकार क्षेत्र में जो मांग है ,उसे मेरे द्वारा रिपोर्ट प्रेषित माननीय न्यायालय को कर दी जाएगी और शीघ्र वाद कार्यों के हित में मांग पूर्ण कराए जाने का प्रयास किया जाएगा।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close