मुख्य समाचारराजनैतिक खबरें

पकरी गांव के ग्रामीणों पर तथाकथित फर्जी मुकदमें मामले में राज्यसभा सांसद ग्रामीणों के साथ।

  • पकरी गांव के ग्रामीणों पर फर्जी मुकदमे को खत्म करें अन्यथा स्वयं सड़क पर आदिवासियों के हित के लिए उतरेंगे -राम शकल (राज्यसभा सांसद )
  • स्वर्गीय राम सुंदर के परिजनों को 50,000 नगद और 10 दिनों के अंदर किसान दुर्घटना मद से 500000 रु 0 देने का दिया आश्वासन।

जितेंद्र चन्द्रवंशी- दुद्धी- सोनभद्र/सोनप्रभात

दुद्धी ,सोनभद्र।  विकासखंड के पकरी गांव के मृतक रामसुंदर गोंड के परिजनों व मुकदमों में जेल गए ग्रामीणों का हाल जानने के लिए आज मंगलवार की दोपहर राज्य सभा सांसद रामशकल ने पकरी गांव का दौरा किया।  जहां चौपाल लगाकर मृतक के परिजनों से घटना के बावत विस्तार से जानकारी ली।

सांसद रामशकल ने पीड़ित परिवार को ढांढस बांधते हुए घटना को लेकर जांचउपरांत दोषियों पर उचित कार्रवाई किये जाने का भरोसा दिया। साथ ही 50 हजार रुपये का नकद तत्काल आर्थिक सहयोग पीड़ित परिवार को दिया।कहा कि मृतक रामसुंदर गोंड के परिजनों को किसान दुर्घटना योजना के तहत 10 दिनों के भीतर 5 लाख रुपये की सरकारी सहायता दिलाई जाएगी ,इसको लेकर डीएम से वार्ता हो चुकी है ।बाकि मजेस्ट्रेटियल जांच चल रही है व चलेगी और जो भी दोषी पाया जाएगा उसे सजा दिलाई जाएगी।

साथ ही उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार व अन्य ग्रामीणों के ऊपर लदे मुकदमे वापस लिए जाने के लिए एसपी से वार्ता हुई है।उन्होंने जेल गए ग्रामीणों के परिजनों से से घटना की जानकारी ली वहीं पुलिस की कार्रवाई पर खेद जताया।इसके बाद पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस पहुँचे सांसद ने पत्रकारों से वार्ता में कहा कि आदिवासी रामसुंदर गोंड की मौत संदिग्ध है , जहां लाश बरामद हुई वहां उसकी मौत डूब कर नहीं हो सकती।इसके लिए मजिस्ट्रेटियल जांच चल रही है।
पुलिस के कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि जहां आदिवासी रामसुंदर का परिवार पर खुद ही दुखों का पहाड़ टूट पड़ा हो उनके परिजनों के खिलाफ और जो गांव में है भी नही उनके नाम विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज करना पुलिस को सूझ बूझ से काम ना करना दर्शाता है। इस संबंध में वे जल्द ही मुख्यमंत्री से मिलकर मामले की जानकारी देंगे और मुक़दमे को खत्म कराएंगे।अगर उनकी नहीं सुनी गई तो वे खुद धरना देने को बाध्य होंगे और सड़क पर उतर जाएंगे।

वीडियो:-

इस दौरान जनजातीय सुरक्षा मंच के संयोजक रामविचार सिंह टेकाम, महामंत्री शिवप्रसाद आयाम ,संजीव गौड़ , श्रवण जी गौड़ मौजूद रहें।

कुछ भी हो पीड़ितों का सत्ता पक्ष के सांसद के द्वारा हाल जानने पहुंचने को लेकर सुकून ग्रामीणों में देखा गया और हो रही सरकार की किरकिरी की खाई को पाटने में महत्वपूर्ण भूमिका राज्यसभा सांसद राम शक्ल और भारतीय जनता पार्टी के जनप्रतिनिधियों ने निभाया ।” सूत्रों की मानो जनहित में मुकदमे वापस किए जाने की मांग का राजनीतिक दलों ने भी समर्थन किया है ।

जिले के खबरों से रहे अपडेट डाउनलोड करे यहाँ क्लिक कर सोनप्रभात मोबाइल न्यूज एप्लिकेशन।

Live Share Market

जवाब जरूर दे 

सोनभद्र जिले से अलग कर "दुद्धी को जिला बनाओ" मांग को लेकर आपकी क्या राय है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
.
Website Designed by Sonprabhat Live +91 9935557537
.
Close
Close